घंटों लाइन मेंं लगे, तब जाकर मिला मनपसंद का स्कूल

DILIP VANVANI | Updated: 14 Jul 2019, 11:47:21 AM (IST) Baran, Baran, Rajasthan, India

रिसफल परिणाम के तहत जिला शिक्षा अधिकारी प्रारंभिक कार्यालय को अन्य जिलों से 83 शिक्षक (83 teachers )मिले थे। उक्त शिक्षक कक्षा 1 से 5वीं तक के हैं।

बारां. अपने मनपसंदीदा स्कूल पाने के लिए रिसफल परिणाम के तहत अन्य जिलों से आए कक्षा एक से पांचवीं तक के शिक्षकों (teachers) को घंटों लाइन में लगना पड़ा। हालांकि कई शिक्षकों को काउसलिंग (Teacher's Cousilings) में देरी से नम्बर आने पर दूर का स्कूल मिला, जिससे उनमें निराशा दिखाई दी। काउसिंग जिला परिषद सभागार में सुबह 11 से दोपहर 2 बजे तक चली।
जिला शिक्षा अधिकारी प्रारंभिक सीताराम मीणा ने बताया कि रिसफल परिणाम के तहत जिला शिक्षा अधिकारी प्रारंभिक कार्यालय को अन्य जिलों से 83 शिक्षक (83 teachers )मिले थे। उक्त शिक्षक कक्षा 1 से 5वीं तक के हैं। हालांकि उक्त शिक्षक ग्रीष्मकालीन अवकाश में ही जिले को मिले थे लेकिन ग्रीष्मकालीन अवकाश व स्टाफिंग पेटर्न के कारण काउसङ्क्षलंग नहीं हो पाई थी। बीकानेर निदेशालय ने अब जाकर काउसलिंग करने के आदेश दिए गए थे। इसके तहत सुबह 10 से 11 बजे तक रजिस्ट्रेशन किया गया। काउसिंग कक्ष में जिला शिक्षा अधिकारी प्रारंभिक मुख्यालय सीताराम मीणा, मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी के सहायक निदेशक रामपाल मीणा, अतिरिक्त मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी छीपाबड़ौद प्रथम प्रेमसिंह मीणा मौजूद थे। मौके पर ही शिक्षकों को बुलाकर ऑनलाइन स्क्रीन पर आवश्यकता वाले स्कूल दिखाए गए। इसके बाद शिक्षकों को उनकी पसंदीदा विद्यालय आवंटित किया गया।
लिस्ट नहीं लगाने पर जताई नाराजगी
काउसिंग में आने वाले शिक्षकों ने कक्ष के बाहर आवश्यकता वाले स्कूलों की लिस्ट नहीं लगाने पर नाराजगी जताई। शिक्षकों का कहना था कि लिस्ट नहीं लगाने के कारण यह पता नहीं चल रहा है कि कौन से स्कूल में पद खाली है या भर गया है। नियमानुसार लिस्ट लगानी चाहिए। फिर जैसे जैसे पद भरते जाएं। उन पर निशान लगाना चाहिए।
स्कूली बच्चों को दी पाठ्य सामग्री
अन्ता. खण्डेलवाल नवयुवक मण्डल अन्ता की ओर से राजकीय प्राथमिक विद्यालय गढ़ परिसर में शिक्षण सामग्री वितरित की गई। इस दौरान अध्ययनरत् छात्र-छात्राएं स्कूल बैग, कोपियां, पेन्सिल बॉक्स, रबर, कटर तथा पानी की बोतलें पाकर खुुश नजर आए। संगठन अध्यक्ष मयंक ठाकुरिया एवं मण्डल की महिला सलाहकार सुरभि खण्डेलवाल ने बताया कि खण्डेलवाल नवयुवक मंडल ने सामाजिक दायित्व निभाते हुए यह सामग्री वितरित करते हुए बच्चों से उच्च शिक्षा प्राप्त करने का आव्हान किया। यह सामग्र्री दानदाता रामेश्वर ठाकुरिया, हरीश, बल्लभ धामाणी, सुशील खण्डेलवाल तथा रोहित खण्डेलवाल के सहयोग से वितरित की गई।

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned