नल से जल नहीं टपकने पर लोगों को करनी पड़ी खासी मशक्कत ,शहर समेत जिले के अधिकांश इलाकों में ठप रही विद्युत आपूर्ति

बारां. आंधी हवा ने शहर के लोगों का आमजन जीवन अस्त-व्यस्त कर दिया। मंगलवार रात को शहर के विभिन्न इलाकों की बिजली घंटों तक गुल रही।

By: Shivbhan Sharan Singh

Published: 07 Jun 2018, 05:05 PM IST

बारां. आंधी हवा ने शहर के लोगों का आमजन जीवन अस्त-व्यस्त कर दिया। मंगलवार रात को शहर के विभिन्न इलाकों की बिजली घंटों तक गुल रही। वहीं हीकड़ गांव में विद्युत लाइनों पर पेड़ की टहनियां गिरने से गांव समेत हीकड़दह की बिजली आपूर्ति रात भर ठप रही।
पाठेड़ा गांव के निकट स्थित बारां शहर का जलशोधन संयंत्र को भी विद्युत आपूर्ति नहीं हुई। इससे बुधवार सुबह पूरे शहर में पेयजलापूर्ति नहीं हुई। इस दौरान लोगों को काफी मशक्कत कर पेयजल का बंदोबस्त करना पड़ा। सुबह करीब साढ़े आठ बजे विद्युत आपूर्ति बहाल हुई। इसके बाद शहर की अंकियों में जल संग्रहण शुरू हो सका।
नलकूपों पर लगी कतार
शहर के मांगरोल रोड, ओढ़पुरा, गोपाल कॉलोनी, श्रमिक कॉलोनी क्षेत्र के लोगों को पानी के लिए काफी परेशानी हुई। क्षेत्र के कई महिलाओं को तो काफी दूर चलकर डोल मेला मैदान स्थित भूतेश्वर महादेव मंदिर के नलकूप से पानी भरकर ले जाना पड़ा। जगजीवनराम कॉलोनी में सुबह के समय नलकूप पर लाइन लगी रही। शिवाजी कॉलोनी, सुसावन बस्ती व शाहाबाद दरवाजा क्षेत्र के कई लोगों ने हैंडपम्पों से पेयजल का इंतजाम किया।
& आंधी से पेड़ गिरने के कारण हीकड़दह के पम्पहाउस की लाइन मंगलवार शाम करीब साढ़े पांच से सुबह करीब साढ़े नौ बजे तक बिजली बंद रही। इससे बुधवार सुबह आपूर्ति नहीं हुई, लेकिन दस बजे बाद बूस्टिंग वाले इलाकों में व बाद में शाम वाले जोन में आपूर्ति की गई। अब गुरुवार से जलापूर्ति सुचारू होगी।
गोपेश गर्ग, अधीक्षण अभियंता, जलदाय विभाग
विद्युत वितरण निगम के एईएन (ग्रामीण) सुनील गठाला ने बताया कि मंगलवार रात तेज आंधी केसाथ बारिश होने से हीकड़ गांव की विद्युत लाइन पर दो पेड़ों की गीली टहनियां टूटकर गिर गई थी। इससे गांव समेत हीकड़दह पमप हाउस तक जा रही लाइन शोर्ट सर्किट होने से बंद हो गई। सूचना पर विद्युत वितरण निगम ग्रामीण व जलदाय विभाग के जेईएन, एईएन आदि मौके पर पहुंचे। कुछ प्रयास किए, लेकिन विद्युत आपूर्ति बहाल नहीं हुई। टहनियां हटाने के बाद सुबह करीब साढ़े आठ बजे हीकड़ की लाइन ठीक हुई। इसके बाद भी विद्युत आपूर्ति शुरू नहीं हुई तो नियाना से पाठेड़ा विद्युत लाइन की पेट्रोलिंग की गई। इसमें कुछ जगह इंसूलेटर पंचर मिले। इन्हें बदलने के बाद सुबह करीब साढ़े नौ बजे पूरी तरह आपूर्ति बहाल हुई। जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के एईएन डालूराम मेहता ने बताया कि बुधवार को शाम को जलापूर्ति वाले इलाके खाती कॉलोनी, शिव कॉलोनी, लंका कॉलोनी व शिवाजी नगर आदि में आंशिक जलापूर्ति की गई।

Show More
Shivbhan Sharan Singh
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned