दबंगों ने दो मुस्लिम नाबालिग बहनों पर फेंका तेज़ाब

तेजाब फेंकने वाले भी मुस्लिम, एक गिरफ्तार, हड़कंप

By: Santosh Pandey

Published: 22 Aug 2017, 03:11 PM IST

बरेली। नवाबगंज में एक बार फिर दिल दहला देने वाली घटना हुई है। दबंगों ने दो नाबालिग बहनों पर तेज़ाब से हमला कर दिया। जिससे दोनों बहने बुरी तरह से झुलस गयी जिन्हें इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बहनों को बचाने के चक्कर में उनके दो भाई भी झुलस गए। नवाबगंज के टाडा सादात के रहने वाले मोहम्मद नबी सरसो का तेल बेचने का काम करता है। बीती रात रात लगभग तीन बजे गाँव के ही चार लोग मोहम्मद नबी के घर में घुस आए और आँगन में सो रही नबी की 16 साल की बेटी रवीना और 15 साल की सबीना पर तेज़ाब डाल दिया जिससे दोनों बहने बुरी तरह से झुलस गयी और चीखने चिल्लाने लगी। दोनों बहनों की चीख सुनकर मौके पर पहुँचे भाई अब्दुल हसन और याकूब ने उन्हें बचाने की कोशिश की जिसमे वो दोनों भी मामूली रूप से झुलस गए।

गाँव के चार लोगों पर आरोप

लड़कियों के पिता ने गाँव के ही चार लोगों पर तेज़ाब डालने का आरोप लगाया है। उसका कहना है कि ये लोग उससे रुपये मांगते थे न देने पर तेज़ाब डाल दिया। नबी ने गाँव के भूरा, सटटू, आसिफ और इसरार पर तेजाब डालने का आरोप लगाया है। पुलिस ने भूरा को हिरासत में ले लिया है।

सभी पहलुओं पर हो रही है जांच

घटना की जानकारी पर जिला अस्पताल पहुँचे एसएसपी जोगेन्द्र कुमार ने बताया कि लड़की के पिता ने चार लोगों पर आरोप लगाया है। जिसमे भूरा नाम के आरोपी को हिरासत में लिया है।एसएसपी ने बताया कि लड़कियों के पिता ने दो शादी की थी उसका दूसरी पत्नी से केस चल रहा है। इन सभी पहलुओं पर भी जांच की जा रही है और जल्द ही मामले का खुलासा कर दिया जाएगा।

अस्पताल में नहीं है व्यवस्था

बुरी तरह से झुलसी दोनों बहनों को इलाज के लिए जिला अस्पताल के बर्न वार्ड में भर्ती कराया गया। जिला अस्पताल के सीएमएस डा के एस गुप्ता ने बताया कि छोटी बहन सबीना 60 प्रतिशत से ज्यादा झुलस गयी है जबकि बड़ी बहन रवीना करीब 35 प्रतिशत।लेकिन बरेली के जिला अस्पताल में इलाज की समुचित व्यवस्था न होने के कारण दोनों बहनों को इलाज के लिए लखनऊ रेफर किया जा रहा है।

 

 

 

Santosh Pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned