इन योजनाओं में 200 से अधिक लाभार्थियों को मिले स्वीकृतपत्र

पंचायत से कम से 15-15 किसानों के खेतोंं का मृदा परीक्षण कराने के निर्देश

By: Santosh Pandey

Published: 18 Aug 2017, 02:52 PM IST

बरेली। दीनदयाल उपाध्याय जन्मशती वर्ष पर अर्बनहाट में तीन दिवसीय अन्त्योदय मेला एवं प्रदर्शनी का शुभारम्भ हुआ। मेला प्रदर्शनी के प्रथम दिन कमिश्नर डार पीवी जगनमोहन, शहर विधायक डा अरुण कुमार, बिथरी चैनपुर के विधायक राजेश कुमार मिश्र ने प्रदर्शनी का अवलोकन कर विभिन्न योजनाओं में लाभान्वित लगभग 200 से अधिक लाभार्थियों को स्वीकृति पत्र वितरित किये। मेला में आयोजित कार्यक्रम में ग्रामीण आजीविका मिशन के अर्न्तगत गठित महिला स्वयं सहायता के 15 समूहों को सीसीएल स्वीकृति पत्र वितरित किये गये।

अपने सम्बोधन में कमिश्नर डा0 पीवी जगनमोहन ने कहा कि पं0 दीनदयाल उपाध्याय जी की अन्त्योदय की अवधारणा को केन्द्र व प्रदेश सरकार साकार कर रही हैं। अंतिम पायदान पर बैठे व्यक्ति के जीवन स्तर में सुधार की योजनायें लागू हैं। किसानों के लिये मृदा परीक्षण महत्वपूर्ण है। उन्होंने कृषि विभाग को प्रति ग्राम पंचायत से कम से कम 15-15 किसानों खेतों का मृदा परीक्षण कराने के निर्देश दिये। शहर विधायक डा0 अरुण कुमार ने लाभार्थियों से कहा कि उन्हे जिस कार्य के लिये धन मिला है उसी मे उपयोग कर अपनी उन्नति करें। केन्द्र व राज्य सरकार गरीबों, कमजोर, किसानों, बेरोजगार युवाओं के उन्नति व उत्थान के प्रति कटिबद्ध हैं।

बिथरी विधायक राजेश कुमार मिश्र ने कहा कि सरकार के कार्य धरातल पर दिख रहे हैं। शहर से लेकर गॉव तक विकास दिखने लगा हैं। आमजन की समस्या सुनी जाती और उसका निदान होता है। सरकार आमजन के लिये अच्छा कार्य कर रही हैं।

कमिश्नर और विधायकों ने प्रदर्शनी में लगे विभिन्न विभागों जैसे पंचायत, स्वास्थ्य, ग्राम, शिक्षा, महिला कल्याण, वन, समाज कल्याण आदि के लगभग 30-35 स्टालों का अवलोकन किया। सूचना विभाग द्वारा पं0 दीनदयाल उपाध्याय एवं यूपी सरकार के 100 दिन विश्वास के विषय पर आधारित प्रदर्शनी लगाई गई। मेला प्रदर्शनी प्रातः 10 बजे से शुरु हुई जिसमे हजार से अधिक लोगों ने आकर देखा। पंडाल में आयोजित गोष्ठी में विभागीय अधिकारियों ने लोगों को योजनाओं के बारे में विस्तार से बताया। इस अवसर पर स्कूली बच्चों ने देश भक्ति गीत गाये। कठपुतली के माध्यम से लोगों को मनोरंजन ढंग से योजनाओं की जानकारी दी गई। नि:शुल्क प्रचार साहित्य वितरण किया गया। उप निदेशक सूचना एसके दुबे ने धन्यवाद ज्ञापित किया।

Santosh Pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned