ईद पर गले मिलने से करें परहेज, घरों में दावतों का न करें आयोजन:अहसन मियां

ईद (Eid) की खरीदारी और खाने पीने की चीज़ों की बगैर ज़रूरत खरीदारी न करें

By: jitendra verma

Published: 22 May 2020, 05:05 PM IST

बरेली। दरगाह ए आला हजरत (Dargah ala Hazrat) स्थित रज़ा मस्जिद में जुमा तुल विदा (alvida) की नमाज़ 4 बजे अदा की गयी। दरगाह प्रमुख मौलाना सुब्हान रज़ा खान (Subhani Miyan) के साथ खानदान के बुजुर्ग शख्सियतों ने रज़ा मस्जिद में बाकी सभी लोगो ने घरों में नमाज़ (Namaj) अदा की।

ईद पर गले न मिले

इस मौके पर दरगाह के सज्जादानशीन (Sajjadanshin) मुफ़्ती अहसन रज़ा क़ादरी (अहसन मियां) ने लोगो को मुबारकबाद देते हुए कहा कि आप लोग ने मुक़द्दस रमज़ान (Ramadan) में सरकार द्वारा तय गाइड लाइन पर न सिर्फ अमल किया बल्कि उलेमा की जानिब से दिए गए मशवरें पर कायम रहें। उन्होंने आगे कहा कि अगर हमें ईद (Eid) से पहले या आने वाले दिनों में अपने आवाई वतन जाने का मौका मिलता है तो ऐसी सूरत में भी खुद को भीड़ और मजमे से बचायें रखें। ईद के दिन घर वालो के साथ खुशियां मनाये। गले मिलने और मुसाफा से पूरी तरह परहेज़ करें। अपने घरों में दावतों (party) का एहतिमाम न करें और खुद भी किसी के घर न जाएं। ईद की खरीदारी और खाने पीने की चीज़ों की बगैर ज़रूरत खरीदारी न करें। बाज़ारो में हरगिज़ भीड़ जमा न करें। अभी तक आप लोगों ने स्वास्थ्य व अन्य विभाग जो इस महामारी में अपनी खिदमात को अंजाम दे रहे है उनकी मदद में सहयोग किया आगे भी इस महामारी को जड़ से खत्म होने तक सहयोग जारी रखें।

गाइडलाइन के अनुसार हुई नमाज

दरगाह से जुड़े नासिर कुरैशी ने बताया कि जुमा तुल विदा के मौके पर किला की जामा मस्जिद समेत शहर भर की सभी छोटी बड़ी मस्जिदों में शासन की गाइड लाइन के मुताबिक लोगों ने नमाज़ अदा की बाकी लोगो मे घरों में नमाज़ ए ज़ोहर अदा किया।

Show More
jitendra verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned