लॉक डाउन में मिली पुलिस मदद, पुलिस अफसर के नाम पर नवजात बच्चे का नाम रखा रणविजय खान

तमन्ना ने इस मुशिकल दौर में उनकी मदद करने वाले नोयडा के पुलिस अधिकारी रणविजय के नाम पर अपने बेटे का नाम रणविजय खान रखा है।

बरेली। इज्जतनगर की रहने वाली तमन्ना के लिए यूपी पुलिस किसी फरिश्ते से कम नहीं है। लॉक डाउन के दौरान जब तमन्ना को प्रसव पीड़ा हुई तो बरेली और नोयडा पुलिस ने तमन्ना की मदद की जिसके बाद तमन्ना ने एक बेटे को जन्म दिया। तमन्ना ने इस मुशिकल दौर में उनकी मदद करने वाले नोयडा के पुलिस अधिकारी रणविजय के नाम पर अपने बेटे का नाम रणविजय खान रखा है। तमन्ना का कहना है कि वो नोयडा के एसीपी रणविजय और बरेली के एसएसपी शैलेश कुमार पांडेय का एहसान जिंदगी भर नहीं भूल पाएंगी।

क्या था मामला

इज्जतनगर थाना क्षेत्र की रहने वाली तमन्ना खान को गर्भवती थी और उनका पति नोयडा में नौकरी करता था जिस कारण वो बरेली में नहीं था। चिकित्सकों ने तमन्ना को 23 मार्च की डेट दी थी। 25 मार्च को प्रसव पीड़ा होने पर तमन्ना ने पुलिस से मदद की गुहार लगाई जिसके बाद बरेली और नोयडा पुलिस एक्टिव हो गई। बरेली पुलिस ने तमन्ना को अस्पताल में भर्ती कराया और बरेली के एसएसपी शैलेश कुमार पांडेय और नोयडा के एसीपी रणविजय सिंह ने आपस में बात कर नोयडा में फंसे तमन्ना के पति को बरेली भेजने की व्यवस्था की जिसके बाद तमन्ना का पति अनीस बरेली पहुँचा। पति के बरेली पहुँचने के बाद तमन्ना ने बेटे को जन्म दिया।

बेटे को बताया जूनियर रणविजय

इस मुशिकल दौर में तमन्ना की मददगार बनी यूपी पुलिस को तमन्ना ने बहुत बहुत धन्यवाद दिया और अपने बेटे का नाम नोयडा के एसीपी रणविजय सिंह के नाम पर रणविजय खान रखक है और अपने बेटे को जूनियर रणविजय बताया। तमन्ना का कहना है कि इस संकट की घड़ी में उनकी मदद करने वाले बरेली के एसएसपी शैलेश कुमार पांडेय और नोयडा के एसीपी रणविजय सिंह का वो जिंदगी भर एहसान नहीं भूलेंगी।

Corona virus
Show More
jitendra verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned