पुलिस जांच में झूठा निकला बरेली लव जिहाद मामला

  • एक दिसंबर को तीन मुस्लिम युवकों के खिलाफ दर्ज कराई गई थी शिकायत
  • एसपी ने कहा धारा 182 के तहत शिकायतकर्ता के खिलाफ होगी कार्रवाई

By: shivmani tyagi

Updated: 03 Jan 2021, 09:47 PM IST

पत्रिका न्यूज़ नेटवर्क
बरेली ( bareiily news ) बरेली में लव जिहाद के आरोपों की घटना झूठी निकली। साल के पहले दिन युवती ने तीन मुस्लिम युवकों पर जबरन शादी कराने और धर्म परिवर्तन कराने का आरोप लगाया था। पुलिस जांच में यह पूरा मामला झूठा निकला। अब पुलिस ने तीनों आरोपी युवकों को क्लीन चिट देने के साथ ही आईपीसी की धारा 182 के तहत शिकायतकर्ता के खिलाफ कार्रवाई का मन बना लिया है।

यह भी पढ़ें: मुरादनगर हादसे में प्रशासन ने जारी की 19 मृतकों की सूची

पुलिस जांच में पहले ही दिन यह बात सामने आई कि जिन तीन मुस्लिम युवकों के खिलाफ छात्रा ने शिकायत की है वह घटना के समय बरेली में नहीं थे। छात्रा ने तीनों युवकों पर तमंचा दिखाकर घेरने की कोशिश करने के आरोप लगाए थे लेकिन जब पुलिस ने जांच की तो पता चला कि आरोपी उस दिन फरीदपुर में नहीं थे। आरोपों की जांच पड़ताल और सर्विलांस रिपोर्ट के तहत सामने आई लोकेशन के आधार पर पुलिस ने अब इस मामले को खत्म करने की तैयारी कर ली है। पीड़ित छात्रा के भाई ने पुलिस की इस कार्रवाई को गलत बताया है और कहा है कि पुलिस आरोपियों से मिल गई है।

दरअसल शुक्रवार को बरेली पुलिस ने
फरीदपुर के रहने वाले अबरार के खिलाफ लव जिहाद का मामला दर्ज किया था। नर्सिंग की एक छात्रा ने आरोप लगाए थे कि अबरार ने अपने दो साथियों के साथ मिलकर उसे तमंचे के बल पर रोका और धर्म परिवर्तन के लिए दबाव बनाया। इतना ही नहीं उसकी ससुराल जाकर शादी तुड़वाने की भी कोशिश की। आरोप यह भी था कि जब छात्रा ने इनकार किया तो आरोपियों ने उसके पूरे परिवार को जान से मारने की धमकी दी जिससे छात्रा काफी दहशत में आ गई। इस पूरे मामले की शिकायत छात्रा की ओर से फरीदपुर थाने ने पुलिस में की गई थी और पुलिस ने तहरीर के आधार पर लव जिहाद का मुकदमा दर्ज कर लिया था।


छात्रा के भाई ने जताया जान का खतरा
एक और इस मामले में पुलिस ने पूरी घटना को झूठा करार देते हुए फाइनल रिपोर्ट लगाने की तैयारी कर ली है तो उधर छात्रा के भाई ने जान के खतरे की आशंका जताई है। छात्रा के भाई ने कहा है कि आरोपी अबरार ने उन्हें जान से मारने की धमकी दी है। छात्रा के भाई का यह भी कहना है कि इस घटना से तंग आकर उसकी बहन ने आत्महत्या करने की कोशिश भी कर चुकी है। बरेली एसएसपी रोहित सिंह सजवाण का कहना है कि छात्रा ने जिस दिन की घटना होना बताया है उस दिन आरोपी अबरार मौके पर मौजूद नहीं है बल्कि घटना से कई किलोमीटर दूर है। उसकी लोकेशन और प्राथमिक पड़ताल के साथ-साथ गवाहों के बयानों के आधार पर मुकदमे को खत्म किया जाएगा और झूठे आरोप लगाने के कारण शिकायतकर्ता के खिलाफ धारा 182 के तहत कार्रवाई की जाएगी।

shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned