दसवीं के छात्र ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट में लिखा, दसवां कार्यक्रम में उन सभी को बुलाना जो करते थे मुझसे नफरत

अवसाद से घिरे एक दसवीं कक्षा के छात्र ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। घटनास्थल पर मिले सुसाइड नोट में कई चौंकाने वाली बातें लिखी हुई थी।

By: Mahendra Pratap

Updated: 17 Jun 2020, 12:53 PM IST

बरेली. अवसाद से घिरे एक दसवीं कक्षा के छात्र ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। घटनास्थल पर मिले सुसाइड नोट में कई चौंकाने वाली बातें लिखी हुई थी। उसने लिखा कि मेरे दसवां कार्यक्रम उन सभी को न्यौता देना जो गुझसे नफरत करते हैं। उसने आगे लिखा कि ‘मुझमें लड़कियों जैसे गुण हैं, चेहरा भी लड़कियों जैसा दिखता है, मैं इस तरह की जिंदगी जीना नहीं चाहता।’ अगली लाइन को पढ़कर सब हैरत में ही रह गए उसने लिखा कि यदि अभिनेता सुशांत सिंह आत्महत्या कर सकता है तो मैं क्यों नहीं?

सुसाइड करने वाले छात्र के पिता मोबाइल रिपेयर की दुकान चलाते हैं जबकि उसकी मां का देहांत चार वर्ष पहले हो चुका था। पिता ने कहाकि सोमवार दोपहर उन्होंने अपने कमरे में मौजूद बेटे को आवाज दी, पर जवाब नहीं मिला। तब लोगों की मदद से दरवाजा तोड़ा तो अंदर 16 वर्षीय बेटे का शव फंदे से लटका मिला। पुलिस ने शव सील कर कमरे की तलाशी ली तो सुसाइड नोट मिला।

पुलिस के अनुसार सुसाइड नोट में लिखी बातें हैरात भरी हैं। सुसाइड नोट में लिखा है ‘मेरे दसवां संस्कार में उन सभी लोगों को बुलाया जाए जो मुझसे नफरत करते हैं। मैं लड़का जरूर हूं लेकिन मुझमें लड़कियों वाले गुण भी हैं। मेरा चेहरा लड़कियों की तरह दिखता है। कभी-कभी लगता है मैं किन्नर तो नहीं हूं। मैं इस तरह की जिंदगी नहीं जीना चाहता। हालांकि मुझे लड़कियों से कोई नफरत नहीं है। मैं चाहूंगा कि अगले जन्म में लड़की बनकर संसार में आऊं।’

पुलिस ने परिवार से पूछताछ करने के बाद शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। सुसाइड नोट को फोरेंसिक जांच के लिए भेजा जा रहा है।

Show More
Mahendra Pratap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned