scriptभाजपा कार्यकर्ताओं और लोकतंत्र सेनानियों ने आपातकाल दिवस पर की चर्चा, मनाया काला दिवस | BJP workers and democracy fighters discussed Emergency Day and celebrated Black Day | Patrika News
बरेली

भाजपा कार्यकर्ताओं और लोकतंत्र सेनानियों ने आपातकाल दिवस पर की चर्चा, मनाया काला दिवस

सिविल लाइंस स्थित भाजपा कार्यालय पर मंगलवार को आपातकाल दिवस को काला दिवस के रूप मनाते हुए विचार गोष्ठी आयोजन किया गया। इसके बाद लोकतंत्र सेनानियों का सम्मान किया गया। देश में 25 जून, 1975 को आपातकाल घोषित किया गया था और यह 21 मार्च, 1977 तक जारी रहा।

बरेलीJun 25, 2024 / 08:56 pm

Avanish Pandey

लोकतंत्र सेनानियों को किया गया सम्मानित।

बरेली। सिविल लाइंस स्थित भाजपा कार्यालय पर मंगलवार को आपातकाल दिवस को काला दिवस के रूप मनाते हुए विचार गोष्ठी आयोजन किया गया। इसके बाद लोकतंत्र सेनानियों का सम्मान किया गया। देश में 25 जून, 1975 को आपातकाल घोषित किया गया था और यह 21 मार्च, 1977 तक जारी रहा। इस समय को नागरिक स्वतंत्रता के दमन के तौर पर देखा जाता है। इस दौरान तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के इस कदम का विरोध करने वाले नेताओं को गिरफ्तार किया गया था।
लोकतंत्र सेनानियों का सम्मान भाजपा ने किया है हमेशा
लोकसभा प्रवासी देवेंद्र सिंह चौधरी ने कहा लोकतंत्र सेनानियों का सम्मान हमेशा भाजपा ने किया है और निरंतर करते रहेंगे। भारतीय लोकतंत्र और राजनीति के सबसे दुखद और काला अध्याय के रूप में आपातकाल के विरोध में उठी प्रत्येक आवाज को सादर नमन किया। उन्होंने कहा जिस तरह से अत्याचार किया गया वह निंदनीय था। हम सबको भी लोकतंत्र सेनानियों से सीख मिलती है कि उन्होंने किस तरह से संघर्ष किया। निवर्तमान सांसद धर्मेंद्र कश्यप ने कहा आपातकाल लगाना और अत्याचार करना बड़े दुख की बात है। मैं ऐसे लोकतंत्र सेनानियों को नमन करता हूं। जिला पंचायत अध्यक्ष रश्मि पटेल ने आपातकाल के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए लोकतंत्र सेनानियों को नमन किया।
25 जून हमेशा मनाया जाएगा काला दिवस के रूप में
महापौर डॉ उमेश गौतम ने सभी लोकतंत्र सेनानियों को नमन किया। कहा कि 25 जून हमेशा काला दिवस के रूप में मनाया जाएगा। भाजपा लोकतंत्र सेनानियों को पूर्ण सम्मान देती है और आगे भी सम्मान देती रहेगी। कैंट विधायक संजीव अग्रवाल ने कहा कि सेनानियों का संघर्ष और आपातकाल के दौरान उन लोगों ने जिस तरह से पीड़ा को सहन किया है उसकी हम लोग कल्पना भी नहीं कर सकते। अनिल कुमार एडवोकेट ने भी लोकतंत्र सेनानियों के बारे में विस्तार से चर्चा की। लोकतंत्र रक्षक सेनानी वीरेंद्र कुमार अटल ने आपातकाल के बारे में बोला कि 25 जून 1975 की आधी रात में तत्कालीन प्रधानमंत्री ने सत्ता पर काबिज रहने की गरज से लोकतंत्र की हत्या कर दी थी। उन्होंने कहा कि तानाशाही के खिलाफ और लोकतंत्र की बहाली के लिए देश के लाखों छात्रों, युवकों, किसानों और मजदूरों ने संघर्ष किया।
रायबरेली से लोकसभा का चुनाव जीती इंदिरा गांधी का चुनाव कर दिया अवैध घोषित
आपातकाल की पटकथा तो 12 जून 1975 को लिख दी गई थी। इसी दिन इलाहाबाद हाई कोर्ट के जस्टिस जगमोहन लाल सिन्हा ने रायबरेली से लोकसभा का चुनाव जीती इंदिरा गांधी का चुनाव अवैध घोषित कर दिया था। उन पर छह वर्ष तक चुनाव न लड़ने का प्रतिबंध भी लगाया गया। यह वह दौर था जब सरकारी जुल्म और ज्यादती का पूरा देश शिकार हो गया था। उसकी मिसाल मिलना कठिन है। उन्होंने पार्टी के सभी नेताओं से कहा कि इमरजेंसी को देश के किसी राज्य सरकार ने नहीं बल्कि केंद्र सरकार ने लागू किया था।
पिछले इतिहास से सीख लेते हुए देश और समाज के लिए भी कुछ करें
वीरेंद्र कुमार अटल ने कहा वर्तमान केंद्र सरकार आपातकाल के योद्धाओं को सम्मानित करते हुए स्वतंत्रता सेनानी जैसी सुविधाएं प्रदान कर लोकतंत्र सेनानियों का आशीर्वाद ले। और कहा कि आपातकाल के दौरान बरेली जिला जेल में भी एक भारतीय जन संघ के कार्यकर्ता फालतू गंज निवासी चेतराम लोधी की किला थाना पुलिस की पिटाई के कारण जेल में ही उनकी मौत हो गई थी। उन्होंने भाजपा कार्यकर्ताओं का आवाहन किया कि वह पिछले इतिहास से सीख लेते हुए देश और समाज के लिए भी कुछ करें।
यह लोग कार्यक्रम रहे मौजूद
राजेंद्र पाल सिंह, सुमंत महेश्वरी, गुरमेल सिंह, विनोद कुमार गुप्ता, महेश सक्सेना, बाबूराम गंगवार, डॉ. वीरेंद्र कुमार, श्यामा देवी, मंगला देवी, दयाराम समेत 50 लोकतंत्र रक्षक सेनानी और आश्रितों को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम का संचालन प्रभु दयाल लोधी ने किया। इस मौके पर प्रमुख रूप से लोकसभा प्रवासी देवेंद्र सिंह चौधरी, निवर्तमान सांसद धर्मेंद्र कश्यप, जिला पंचायत अध्यक्ष रश्मि पटेल, कैंट विधायक संजीव अग्रवाल, बिथरी विधायक डॉ. राघवेंद्र शर्मा, महापौर डॉ. उमेश गौतम, जिला अध्यक्ष पवन शर्मा, आदेश प्रताप सिंह, महानगर अध्यक्ष अधीर सक्सेना, अनिल कुमार एडवोकेट, पूरनलाल लोधी, सोमपाल शर्मा, ब्लॉक प्रमुख योगेश पटेल, मीडिया प्रभारी बंटी ठाकुर, अंकित महेश्वरी, मेघनाथ कठेरिया, डॉ. तृप्ति गुप्ता, विष्णु शर्मा, अजय चौहान, अजय सक्सेना, चंचल गंगवार, ओमवीर आदि मौजूद रहे।

Hindi News/ Bareilly / भाजपा कार्यकर्ताओं और लोकतंत्र सेनानियों ने आपातकाल दिवस पर की चर्चा, मनाया काला दिवस

ट्रेंडिंग वीडियो