scriptड्रग माफिया के दामाद ने मांगी 50 लाख की रंगदारी, रुकवाया निर्माण, जाने मामला | Patrika News
बरेली

ड्रग माफिया के दामाद ने मांगी 50 लाख की रंगदारी, रुकवाया निर्माण, जाने मामला

शाहजहांपुर रोड पर हो रहे अंकित त्रिपाठी के प्लॉट पर निर्माण कार्या ड्रग माफिया उस्मान तस्कर के दामाद जाकिर प्रधान, वाजिद, आसिफ ने 40 से 50 अज्ञात लोगों को ले जाकर रुकवा दिया। उनसे 50 लाख रुपये की रंगदारी मांगी। इसमें से आरोपियों ने दो लाख रुपये वसूल भी लिए। बाकी के 48 लाख रुपये जल्द नहीं देने पर निर्माण कार्य न करने की धमकी भी दी है।

बरेलीJun 22, 2024 / 07:36 pm

Avanish Pandey

आरोपी जाकिर प्रधान (फाइल फोटो)

बरेली। शाहजहांपुर रोड पर हो रहे अंकित त्रिपाठी के प्लॉट पर निर्माण कार्या ड्रग माफिया उस्मान तस्कर के दामाद जाकिर प्रधान, वाजिद, आसिफ ने 40 से 50 अज्ञात लोगों को ले जाकर रुकवा दिया। उनसे 50 लाख रुपये की रंगदारी मांगी। इसमें से आरोपियों ने दो लाख रुपये वसूल भी लिए। बाकी के 48 लाख रुपये जल्द नहीं देने पर निर्माण कार्य न करने की धमकी भी दी है। इसी दौरान आरोपियों ने पीड़ित की निर्माण स्थान में घुसकर मिस्त्री मजदूरों को धमकाया और वहां रह रही महिलाओं के साथ भी अश्लीलता की। इस मामले में पुलिस ने तीन नामजद व 40 से 50 अज्ञात आरोपियों के खिलाफ एफआईआर कर ली है। पुलिस मामले में जांच कर रही है।
2 साल पहले खरीदी थी जमीन
कैंट के चौधरी मोहल्ला के रहने वाले अंकित त्रिपाठी ने बताया कि मोहनपुर शाहजहांपुर रोड आरटीओ ऑफिस के बराबर में करीब तीन बीघा चार विश्वा उनकी जमीन है। जो उन्होंने लगभग 2 साल पहले खरीदी थी। वहां पर उन्होंने चौकीदार को रहने के लिए दो कमरे भी बना दिए हैं। चौकीदार परिवार समेत वहां रह भी रहे हैं। आरोप है कि जब भी वह इस जमीन पर निर्माण कार्य कराना शुरू करते हैं तो ड्रग माफिया उस्मान का दामाद जाकिर प्रधान निवासी कैंट के गांव मोहनपुर दबंगों को ले जाकर हस्तक्षेप शुरू कर देता है।
तमंचा के बल पर 50 लाख रुपये मांगी थी रंगदारी
आरोपी के गुर्गे भी अलग-अलग तरह से वसूली करते हैं। इसके बाद भी आरोपियों का अतंक कम नहीं होता है। पीड़ित अंकित का आरोप है कि आरोपी जाकिर प्रधान ने तमंचे तान कर 50 लाख रुपये रंगदारी मांगी थी। मजबूर होकर पीड़ित ने 28 मार्च को 2 लाख रुपये दे भी दिए और फिर आरोपी जाकिर प्रधान ने एक लिखत भी दी। इसके बाद धमकाते हुए कहा कि जल्द ही 48 लाख रुपये का इंतजाम और करके रखना। अगर वह नहीं दिए तो कोई भी निर्माण कार्य नहीं करा पाएंगे। आरोप है कि सात जून को अंकित अपनी जमीन पर निर्माण कार्य करा रहे थे। उसी दौरान जाकिर प्रधान अपने भाइयों वाजिद एवं आसिफ के साथ करीब 50 लोगों को तमंचे और तलवारों से लैस होकर वहां लेकर आया। राजमिस्त्री व मजदूरों से मारपीट की। उन्हें धमकाते हुए भगाकर हो रहे निर्माण कार्य को रुकवा दिया।
महिलाओं से भी की अश्लील हरकतें, अब सपा का कानून है, सीएम भी कुछ नहीं कर पाएंगे
वहां मौजूद महिलाओं से भी अभद्रता और अश्लील हरकतें की। तमंचों के बल पर निर्माण कार्य रुकवाते हुए जानलेवा हमला कर दिया। किसी तरह से पीड़ित ने भागकर जान बचाई। घटना की सीसीटीवी फुटेज भी अंकित ने पुलिस को सौंपी है। मामले में आइजी के आदेश पर कैंट थाने में जाकिर प्रधान, उसके भाई वाजिद एवं आसिफ के साथ ही 40-50 अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गई है। अंकित का आरोप है कि आरोपी अपने साथियों के साथ उनकी संपत्ति में घुसा और कहा कि अब देश में समाजवादी पार्टी का जलवा है। सीएम भी अब कुछ नहीं कर सकेंगे। अगर निर्माण कार्य करना है तो 50 लाख रुपये रंगदारी देनी ही होगी। वरना कोई भी निर्माण कार्य नहीं होगा।

Hindi News/ Bareilly / ड्रग माफिया के दामाद ने मांगी 50 लाख की रंगदारी, रुकवाया निर्माण, जाने मामला

ट्रेंडिंग वीडियो