जुलूस ए मोहम्मदी में शान से लहराया तिरंगा- देखें वीडियो

सैयद शबाब हुसैन को सुब्हानी मियां ने परचम सौंप कर जुलूस को रवाना किया ।

बरेली। नबी ए करीम की आमद की ख़ुशी में आज शहर में जुलूस ए मोहम्मदी दरगाह प्रमुख मौलाना सुब्हान रज़ा खान ( सुब्हानी मियां) की कयादत व सज्जादानशीन मुफ़्ती अहसन रज़ा क़ादरी (अहसन मियां) की निगरानी में कोहाड़ापीर से निकला गया। जुलूस में शहर भर की 100 से ज्यादा अंजुमनों ने हिस्सा लिया। अंजुमने रंग-बिरंगी लिबास पहने बेहतरीन अंदाज़ में कोई हम्द कोई नात ए रसूल पढ़ता चल रहा था तो कोई कलमा और दुरूद का नज़राना पेश कर रही थी । सबसे आगे सुभाष नगर की अंजुमन अनवारे मुस्तफा हदीस लिखी तख्तियां लेकर चल रही थी। जुलूस ए मोहम्मदी में तमाम अंजुमनें तिरंगा झंडा लेकर शामिल हुई।

दरगाह आला हजरत से जुड़े नासिर कुरैशी ने बताया कि जुलूस अपने कदीमी रास्तों कोहाड़ापीर से चलकर कुतुबखाना, कोतवाली, नोवेल्टी चौराहा, इस्लामिया स्कूल, बिहारीपुर ढाल के रास्ते दरगाह आला हजरत पर पहुँचकर खत्म हुआ। इसके पहले कोहाड़ापीर पर मंच पर कारी गुलाम यासीन ने तिलावत ए कुरान की। दरगाह प्रमुख सुब्हानी मियां व सज्जादानशीन मुफ़्ती अहसन मियां की दस्तार बंदी अंजुमन खुद्दामें रसूल के शान रज़ा, कासिम कश्मीरी व आरिफ उल्लाह, कैफ़ी उल्लाह ने कर जोरदार इस्तकबाल किया। ठीक 5 बजकर 5 मिनट पर सैयद शबाब हुसैन को सुब्हानी मियां ने परचम सौंप कर जुलूस को रवाना किया ।

Show More
jitendra verma
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned