जानिए कौन है भगवत शरण जिन्हे नेता जी के बाद अखिलेश ने भी चुनाव मैदान में उतारा

नवाबगंज से पांच बार विधायक रह चुके हैं भगवत शरण

By: jitendra verma

Updated: 29 Mar 2019, 10:51 AM IST

बरेली। लोकसभा चुनाव में बरेली लोकसभा सीट के लिए सभी प्रमुख दलों ने अपने प्रत्याशियों की घोषणा कर दी है। सपा-बसपा गठबंधन के तहत इस सीट पर समाजवादी पार्टी ने पूर्व विधायक भगवत शरण गंगवार पर दांव लगाया है। कुर्मी बिरादरी के भगवत शरण पर दांव लगा कर समाजवादी पार्टी ने बरेली लोकसभा सीट का रोमांच बढ़ा दिया है। बरेली के मौजूदा सांसद और केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार भी कुर्मी बिरादरी के बड़े नेता है। भगवत शरण के मुकाबले में उतरने के बाद अब इस सीट का समीकरण बदल गया है। भगवतशरण के सामने कांग्रेस के पूर्व सांसद प्रवीण सिंह एरन और केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार होंगे। मुलायम सिंह यादव ने भी 2009 में भगवत शरण गंगवार को बरेली सीट से चुनाव मैदान में उतारा था।

पांच बार बने विधायक

भगवत शरण ने राममंदिर लहर के दौरान हुए 1991 और 1993 में भाजपा के टिकट पर विधानसभा का चुनाव लड़ा था और उन्होंने दोनों ही चुनाव में जीत हासिल की थी।1996 में समाजवादी पार्टी के छोटेलाल गंगवार ने भगवत शरण को हराकर सीट पर कब्जा जमाया। जिसके बाद 2002 के चुनाव में भगवतशरण गंगवार कमल का साथ छोड़ कर साइकिल पर सवार हुए और 2002,2007 और 2012 में लगातार तीन बार जीत दर्ज की। 2012 में चुनाव जीतेने के बाद भगवत शरण प्रदेश सरकार में स्वतन्त्र प्रभार के मंत्री भी बनाए गए जिन्हें बाद में मंत्री पद से हटा दिया गया।

2009 में भी लड़े चुनाव
भगवत शरण गंगवार इसके पहले 2009 का भी लोकसभा चुनाव लड़े थे और वो 72 हजार वोट हासिल कर चौथे स्थान पर आए थे। इस चुनाव में बड़ा उलटफेर हुआ था जिसके तहत लगातार छह बार बरेली लोकसभा सीट का चुनाव जीतने वाले संतोष गंगवार को नौ हजार वोटों से हार का सामना करना पड़ा था। 2009 के चुनाव में भगवत शरण गंगवार को 73 हजार से ज्यादा वोट हासिल हुए थे।

Congress
Show More
jitendra verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned