पत्रिका इम्पेक्ट: थाने में गाली बकने वाला गालीबाज सपा नेता गिरफ्तार

पत्रिका इम्पेक्ट: थाने में गाली बकने वाला गालीबाज सपा नेता गिरफ्तार

Amit Sharma | Publish: Sep, 05 2018 07:04:18 PM (IST) Agra, Uttar Pradesh, India

पत्रिका ने इस मामले को प्रमुखता से प्रकाशित किया था जिसके बाद पुलिस हरकत में आई और सपा नेता के खिलाफ एक और मुकदमा दर्ज करने के साथ ही उसे गिरफ्तार कर लिया।

बरेली। किला थाने में जमकर गाली गलौज करने वाले सपा नेता वैभव गंगवार को किला पुलिस ने फजीहत के बाद गिरफ्तार कर लिया। सपा युवजन सभा के जिलाध्यक्ष वैभव गंगवार पर किला पुलिस मेहरबान दिख रही थी लेकिन थाने में उसकी गुंडई का वीडियो वायरल हो गया। पत्रिका ने इस मामले को प्रमुखता से प्रकाशित किया था जिसके बाद पुलिस हरकत में आई और सपा नेता के खिलाफ एक और मुकदमा दर्ज करने के साथ ही उसे गिरफ्तार कर लिया। किला पुलिस ने बुधवार को सपा नेता को कोर्ट में पेश कर दिया है।

क्या था मामला

बड़ा बाजार के रहने वाले केडी सूद के साथ वैभव गंगवार का जमीन का विवाद चल रहा है। पुलिस ने शुक्रवार को मारपीट और रंगदारी मांगने के मामले में सपा नेता को गिरफ्तार किया था। जहां पर उसने पुलिस हिरासत में ही पुलिस वालों के सामने भद्दी भद्दी गालियां बकी थी और पुलिसकर्मी चुपचाप खड़े देखते रहे। जिसके बाद पुलिस ने उसे कोर्ट में पेश किया और कोर्ट से उसे अंतरिम जमानत भी मिल गई थी। लेकिन थाने में सपा नेता की गुंडई का वीडियो वायरल हो गया जिसके बाद किला पुलिस की जमकर किरकिरी हुई और अफसरों के आदेश पर पुलिस ने वैभव पर एक और मुकदमा दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया।

लखनऊ से लगी फटकार

सपा नेता का वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हुआ जिसके बाद डीजीपी ने बरेली में अफसरों को हड़काया जिसके बाद एसएसपी मुनिराज ने किला पुलिस को तत्काल मुकदमा दर्ज कर सपा नेता की गिरफ्तारी के आदेश दिए थे। अफसरों की फटकार के बाद पुलिस ने सपा नेता पर थाने में हंगामा करने और गाली बकने का मुकदमा दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया। अब माना जा रहा है कि इस मामले में उन पुलिस वालों पर भी गाज गिर सकती है जो उस समय थाने में मौजूद थे और उन्होंने गाली बक रहे सपा नेता को रोकने की कोई कोशिश नहीं की।

सपा ने भी बैठाई जांच

वही इस पूरे मामले पर सपा की किरकिरी होते देख जिलाध्यक्ष शुभलेश यादव ने वैभव गंगवार प्रकरण की जांच के लिए कमेटी का गठन किया है। जो एक हफ्ते में जांच कर जिलाध्यक्ष को पूरी रिपोर्ट देगी। जांच कमेटी में सपा नेता प्रमोद बिष्ट, सतेंद्र यादव और शिवचरण को शामिल किया गया है। सपा प्रवक्ता हैदर अली ने बताया कि अगर जांच में वैभव गंगवार दोसी पाए जाते है तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

Ad Block is Banned