पुलिसकर्मियों ने जज को घर में घुसकर पीटा

suchita mishra

Publish: Oct, 13 2017 12:14:39 (IST) | Updated: Oct, 13 2017 12:30:59 (IST)

Agra, Uttar Pradesh, India
पुलिसकर्मियों ने जज को घर में घुसकर पीटा

पीलीभीत में तैनात रह चुकी महिला इंस्पेक्टर ने कॉन्सटेबल के साथ मिलकर की मारपीट, सीजेएम कुसुम लता और पुलिसकर्मी के 20 साल पुराने हैं रिश्ते।

बरेली। पीलीभीत में तैनात रही महिला इंस्पेक्टर ने सिपाही के साथ सीजेएम के घर पर धावा बोल दिया और सीजेएम और उनके परिजनों के साथ मारपीट की। आरोप है कि दोनों ने सीजेएम के भाई का अपहरण भी कर लिया। सीजेएम की शिकायत पर कोतवाली पुलिस ने दोनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तारी के बाद इंस्पेक्टर की हालत बिगड़ गई जिसके बाद उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया।

 

घर मे घुस कर पीटा
सर्किट हाउस के पास जज कॉलोनी में रहने वाली कुसुम लता राठौर बरेली में मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट (सीजेएम)हैं। उन्होंने कोतवाली में दर्ज एफआईआर में बताया कि जब वो कोर्ट से अपने घर पहुंची तो पीलीभीत जिले में तैनात रहीं महिला पुलिस इंस्पेक्टर अनुपम सिंह और कांस्टेबल लता शर्मा जबरदस्ती घर का दरवाजा खुलवा कर घर में दाखिल हो गईं और उनके साथ मारपीट करने लगीं। उन्होंने नौकरानी का गला दबाकर मारने का प्रयास किया और सभी को घर मे बंधक बना लिया। सीजेएम का आरोप है कि उन्होंने उनके पिता के दत्तक पुत्र पांच साल के कुशाग्र राठौर को अगवा कर लिया। मौका पाकर सीजेएम ने कोतवाली पुलिस को फोन कर दिया, जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों को हिरासत में ले लिया।

 

दर्ज हुआ मुकदमा
सीजेएम की शिकायत पर कोतवाली पुलिस ने महिला इंस्पेक्टर अनुपम सिंह सिपाही लता शर्मा के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया। जेल जाने की नौबत आने पर दोनों बेहोश हो गईं, जिसके बाद उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। अस्पताल में एसीजेएम ने उन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में लिया, जहां से देर रात उन्हें जेल भेज दिया गया। एसपी सिटी रोहित सिंह साजवान ने बताया कि शिकायत पर मुकदमा दर्ज कर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है।

 

पारिवारिक रिश्ते है दोनों में
जज के साथ मारपीट करने वाली महिला इंस्पेक्टर अनुपम सिंह के सीजेएम से बीस साल पुराने रिश्ते हैं। सीजेएम और इंस्पेक्टर का घर लखनऊ में आशियाना में है। दोनों का एक दूसरे के घर पर आना जाना भी है। अनुपम सिंह ने बताया कि कुशाग्र को गोद लेने में उनके परिवार ने सीजेएम के परिवार की मदद की थी।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned