इनसे सीखें- प्राइमरी स्कूल को बनाया कॉन्वेंट जैसा

ये स्कूल भी कभी अन्य प्राइमरी स्कूलों की तरह था और बच्चे पढ़ने नहीं आते थे लेकिन यहां तैनात प्रधानाचार्य नीता जोशी ने इसकी तस्वीर बदल दी है।

By: अमित शर्मा

Published: 24 May 2018, 07:46 PM IST

बरेली। प्रदेश के प्राइमरी स्कूलों की हालत किसी से छिपी नहीं है।सरकार प्राइमरी स्कूल पर करोड़ों खर्च करती है लेकिन स्कूलों की बदहाली और खराब शिक्षा की खबरें अक्सर सुनने में आ जाती हैं। इन सबके बीच प्रदेश में तमाम प्राइमरी स्कूल ऐसे भी हैं जो कान्वेंट स्कूलों को टक्कर देते नजर आते हैं। इन स्कूलों की बदहाली दूर करने में यहां पर तैनात स्टाफ का बहुत बड़ा योगदान रहा है। ऐसा ही एक प्राइमरी स्कूल है बरेली के क्यारा ब्लॉक का प्राथमिक विद्यालय लखोरा। ये स्कूल भी कभी अन्य प्राइमरी स्कूलों की तरह था और बच्चे पढ़ने नहीं आते थे लेकिन यहां तैनात प्रधानाचार्य नीता जोशी ने अपनी मेहनत और लगन के दम पर स्कूल की तस्वीर ही बदल दी है। स्कूल में स्मार्ट क्लास लगती है तो कान्वेंट की तर्ज पर पेरेंट्स टीचर मीटिंग भी होती है और ये स्कूल कॉन्वेंट स्कूल को टक्कर देता नजर आता है।

ग्रामीण नहीं भेजते थे बच्चे

प्राथमिक विद्यालय लखोरा में ग्रामीण अपने बच्चों को पढ़ने नहीं भेजते थे सिर्फ सरकारी मदद के लिए बच्चों का रजिस्ट्रेशन कराते थे। 2009 में इस स्कूल की कमान नीता जोशी को मिली। जिसके बाद इस स्कूल की तस्वीर बदल गई।नीता जोशी ने अपनी मेहनत और लगन के दम पर स्कूल को चमकाने का काम किया गांव में घर घर जा कर ग्रामीणों को पढ़ाई का महत्त्व बताया और लोगों ने उनकी बात भी मानी और धीरे धीरे स्कूल में बच्चों की संख्या बढ़ती गई। कभी जिस स्कूल में मुशिकल से 20 से 30 बच्चे ही आते थे आज इस स्कूल में करीब 200 बच्चे रोजाना पढ़ाई के लिए आते हैं।

स्कूल में लगती है स्मार्ट क्लास

प्राइमरी स्कूल में कान्वेंट जैसा माहौल पैदा करने के लिए नीता जोशी ने न सिर्फ मेहनत की बल्कि अपने पास से रुपए भी लगाए। स्कूल में स्मार्ट क्लास भी लगती है जिसमेंं प्रोजेक्टर के माध्यम से पढ़ाई होती है। इसके साथ ही स्कूल के बच्चों को आई कार्ड भी दिए गए और इस स्कूल में हर माह पेरेंट्स टीचर मीटिंग भी होती है।पढ़ाई के साथ साथ स्कूल में तमाम कल्चरल एक्टिविटी भी बच्चों को कराई जाती है।

मिल चुका है सम्मान

नीता जोशी की मेहनत और लगन का ही फल है कि आज ये स्कूल जिले में नम्बर एक स्थान पर है और स्कूल की दशा बदलने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा नीता जोशी को सम्मानित भी किया जा चुका है।

Show More
अमित शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned