मस्जिदों में जमात के साथ नमाज अदा करने को लिया गया बड़ा फैसला

Highlights
- काजी उल हिंद बोले- मस्जिदों में जमात के साथ नमाज अदा करें मुसलमान

- मस्जिदों के इमाम और मुतवल्ली से की किसी को नमाज अदा करने से नहीं रोकने की अपील

- कहा- सरकार ने मस्जिदों में क्षेत्रफल के हिसाब से सौ से दौ सौ लोगों को नमाज पढ़ने की अनुमित दी है

By: lokesh verma

Published: 11 Nov 2020, 02:34 PM IST

बरेली. काेरोना महामारी से बचने के लिए जहां सरकार ने गाइडलाइन जारी कर रखी है। वहीं, सुन्नी बरेलवी मरकज ने सभी मस्जिदों में जमात के साथ नमाज अदा करने का निर्णय लिया गया है। काजी उल हिंद मुफ्ती असजद रजा कादरी ने बयाने जारी करते हुए मुसलमानों से मस्जिदों में बा जमात नमाज अदा करने के लिए कहा है। उन्होंने कहा कि जुमे की नमाज भी जमात के साथ अदा होगी।

यह भी पढ़ें- यूपी में कोरोना मरीजों की संख्या पहुंची पांच लाख के पार, बीते 24 घंटों में मिले 2112 नए मरीज

काजी उल हिंद मुफ्ती असजद रजा कादरी ने कहा कि मस्जिदों के इमाम और मुतवल्ली किसी को नमाज अदा करने से नहीं रोकें। उन्होंने तर्क देते हुए कहा कि सरकार की गाइडलाइन के तहत मस्जिदों में क्षेत्रफल के हिसाब से सौ से दौ सौ लोगों को नमाज पढ़ने की अनुमित दी है। उन्होंने कहा कि मुसलमान मस्जिदों में बा जमात नमाज और जुमा की नमाज अदा करें। उन्होंने कहा कि मुसलमान किसी के भी बहकावे में नहीं आएं। मस्जिदों के इमामों की भी जिम्मेदारी है कि वह 5 वक्स की नमाज हो या फिर जुमा की नमाज, सही तरीके से अदा कराएं।

जमात रजा-ए-मुस्त़फा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सलमान मियां ने काजी उल हिंद के हवाले से कहा कि गृह मंत्रालय और यूपी सरकार की गाइडलाइन के तहत क्षेत्रफल के हिसाब से सौ से दो सौ लोगों को मस्जिदों में नमाज पढ़ने की अनुमति है।

यह भी पढ़ें- NCR में पटाखों पर लगा बैन तो मंत्री के आवास पर धरने पर बैठे व्यापारी, बोले- हम बरबाद हो जाएंगे

coronavirus Coronavirus Outbreak
Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned