गुजरात से श्रमिक स्पेशल ट्रेन पहुंची बरेली,मजदूरों का दावा 525 रुपये लिया गया किराया

ट्रेन से आए प्रवासी मजदूरों का दावा है कि ट्रेन में बैठाने के पहले उनसे 525-525 रुपये किराया वसूला गया है जिसके बदले उन्हें टिकट दिया गया है। मजदूरों ने 525 रुपये किराए वाले टिकट भी दिखाए।

By: jitendra verma

Published: 05 May 2020, 08:24 PM IST

बरेली। लॉक डाउन में फंसे मजदूरों को उनके प्रदेश में भेजने के लिए रेलवे श्रमिक स्पेशल ट्रेन चलवा रहा है। मजदूरों से किराया लेने के मामले में इस समय सियासत भी गर्म है। विपक्षी पार्टियां इस मुद्दे पर सरकार के ऊपर निशाना साध रही हैं। इन सबके बीच गुजरात से एक श्रमिक स्पेशल ट्रेन बरेली जंक्शन पहुंची इस ट्रेन में 1200 से ज्यादा मजदूर अहमदाबाद से बरेली आए हैं। जिन्हें रोडवेज की बसों से प्रदेश के विभिन्न जिलों में भेजा गया है। ट्रेन से आए प्रवासी मजदूरों का दावा है कि ट्रेन में बैठाने के पहले उनसे 525-525 रुपये किराया वसूला गया है जिसके बदले उन्हें टिकट दिया गया है। मजदूरों ने 525 रुपये किराए वाले टिकट भी दिखाए।

ट्रेन में 1216 यात्री सवार थे

लॉक डाउन 3 की शुरुआत के साथ ही प्रवासी मजदूरों को उनके प्रदेश में लाने का कार्य शुरू हो चुका है। मंगलवार को एक श्रमिक स्पेशल ट्रेन साबरमती स्टेशन से बरेली जंक्शन पहुंची। ट्रेन में 1216 यात्री सवार थे। इनमे बड़ी तादात में महिलाएं और बच्चे भी थे। ये लोग गुजरात में मजदूरी करने गए हुए थे। स्टेशन पर उतरने के बाद यात्रियों ने बताया कि उनसे ट्रेन में बैठने के पहले ही 525 रुपये वसूले गए। गाजीपुर जाने वाले प्रमोद राजभर ने बताया कि उन्हें बहुत मुश्किलों का सामना करना पड़ा है और उनसे 525 रुपये लिए गए हैं। गाजीपुर के ही कमलेश यादव ने बताया कि अहमदाबाद से उन्हें आना था उनकी कम्पनी ने फार्म भरवा कर भेजा था लेकिन आधा किलोमीटर पहले ही उनसे 525 रुपये किराया वसूला गया उन्होंने बताया कि पैसा न देने पर गाड़ी रद्द करने की बात कही गई।

बसों से किया रवाना

गुजरात से आए सभी प्रवासी मजदूरों को उनके गृह जनपद भेजने के लिए बरेली के जिला प्रशासन ने रोडवेज की बसों का इंतजाम किया था। 1216 यात्रियों के लिए रोडवेज की 38 बसें लगाई गई थी। ट्रेन से यूपी के 43 जिलों के श्रमिक वापस आए हैं। इन सभी को बस में बैठाने के पहले उनके स्वास्थ्य की जांच की। गुजरात से वापस आए सभी प्रवासियों को उनके घरों में 21 दिन तक क्वारेन्टीन किया जाएगा।

Show More
jitendra verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned