केशव प्रसाद मौर्य के खिलाफ सपा ने खोला मोर्चा

Amit Sharma

Publish: Nov, 15 2017 01:14:00 (IST)

Agra, Uttar Pradesh, India
केशव प्रसाद मौर्य के खिलाफ सपा ने खोला मोर्चा

डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को डिप्रेशन का शिकार बताया था।

बरेली। नगर निकाय चुनाव में जीत को लेकर सभी दल जुटे हुए हैं।निकाय चुनाव को लेकर बीजेपी के फायर ब्रांड नेता और प्रदेश सरकार में डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य बरेली पहुंचे जहां पर उन्होंने सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को डिप्रेशन का शिकार बताया वहीं भाजपा के बिथरी चैनपुर के विधायक राजेश मिश्रा ने ये चुनाव राम और बाबर के बीच बताया। भाजपा नेताओं के इन बयानों के बाद सपा नेताओं ने भी मोर्चा खोल दिया है। सपा के जिलाध्यक्ष शुभलेश यादव और जिला प्रवक्ता हैदर अली ने बयान जारी कर इन बयानों पर विरोध दर्ज कराया।

भाजपा ने आचार संहिता का किया उल्लंघन

समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष शुभलेश यादव ने कहा कि उप मुख्यमंत्री बरेली आए और जनता ने उनको खाली मैदान देकर झूठे जुमलों का जवाब दे दिया, बाकी जवाब आने वाले निकाय चुनाव में समाजवादी पार्टी के प्रत्याशियों को जिता कर जनता दे देगी। केशव प्रसाद मौर्य खाली कुर्सियां देखकर डिप्रेशन का सही अर्थ समझ गए हैं। खाली मैदान को भरने के लिये जिस तरह भाजपा के मेयर प्रत्याशी ने छात्र छात्राओं को अपने संस्थान की बसों में भरकर उपमुख्यमंत्री की जनसभा में भेजा वो अचार संहिता का उल्लंघन तो है ही साथ ही छात्र छात्राओं के अभिवावकों के साथ धोखा भी है।


देश को तोड़ने की कोशिश

मुलायम सिंह यूथ ब्रिगेड के राष्ट्रीय महासचिव सूरज यादव ने बीजेपी के विधायक पर निशाना साधते हुए कहा कि जो लोग राम और बाबर के बारे में बयान दे रहे हैं उन्हें न राम के बारे में कुछ पता है और न बाबर के बारे में। देश को तोड़ने वाले ऐसी बात करते हैं क्योंकि भारत में एक एक आदमी राम का है और भारत का है।


धर्म के नाम पर नफरत फैला रही है भाजपा

वहीं बीजेपी विधायक राजेश मिश्रा के उस बयान पर जिसमें उन्होंने कहा था कि ये चुनाव राम और बाबर के बीच है का जवाब देते हुए सपा के प्रवक्ता हैदर अली ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी का चरित्र ही यही है उन्हें जब जब हार दिखती है तब तब यह लोग धर्म के नाम पर नफरत की राजनीति करने लगते हैं।राम भारत की आत्मा है और बाबर और उनके वंशजों ने भारत को ऐतिहासिक इमारतें दी हैं।यानी भारत को सुंदर बनाया है और शरीर से न आत्मा को जुदा किया जा सकता है और न ही सुंदरता का परित्याग किया जा सकता है। जनता भाजपा के इस खेल को अब समझ चुकी है अब चुनाव धर्म के नाम पर नहीं अखिलेश यादव के विकास के नाम पर होगा।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned