सीएम योगी से इस पुल का उद्घाटन कराना चाहते हैं भाजपाई, सपाइयों ने नारियल फोड़ लिखा अखिलेश

सीएम योगी से इस पुल का उद्घाटन कराना चाहते हैं भाजपाई, सपाइयों ने नारियल फोड़ लिखा अखिलेश

Mukesh Kumar | Publish: Jan, 14 2018 07:21:29 PM (IST) | Updated: Jan, 14 2018 07:44:51 PM (IST) Agra, Uttar Pradesh, India

भाजपाई इस पुल का उद्घाटन सीएम योगी से कराना चाहते हैं, लेकिन उससे पहले सपाइयों ने समाजवादी पार्टी का झंडा लहरा दिया है।

बरेली। उद्घाटन के इंतजार में तैयार खड़े शहामतगंज ओवरब्रिज पर रविवार को सपा कार्यकर्ता बैरिकेडिंग हटाकर पुल पर चढ़ गए। सपा कार्यकर्ताओं ने पूजा-पाठ और नारियल तोड़ कर उद्घाटन करने का दावा किया। इस दौरान सपाइयों ने मिठाई बांटकर खुशी का इजहार किया। भाजपा के नेता इस पुल का उद्घाटन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से कराना चाहते हैं।

 

SP workers

 

ओवरब्रिज पर किया पैदल मार्च
समाजवादी पार्टी के सभी फ्रंटल संगठन के नेता कार्यकर्ताओं के साथ शहामतगंज पुल के नीचे एकत्र हुए नारेबाजी करते हुए पुल के बरेली कॉलेज वाले छोर पर पहुंचे और बैरिकेडिंग हटाकर पुल पर चढ़ गए। जहां पर सपाइयों ने पूजा-पाठ करने के साथ ही नारियल तोड़ दिया और पुल पर पैदल मार्च किया।

 

SP workers

 

सूचना पर पहुंची पुलिस
समाजवादियों के पुल पर पहुंचने की सूचना पर बारादरी पुलिस मौके पर पहुंची और सपा कार्यकर्ताओं को पुल से हटाया। इस दौरान पुलिस की सपा कार्यकर्ताओं से धक्का मुक्की भी हुई। सपा के कार्यकर्ता पुल पर साइकिल लेकर चढ़ने लगे तो पुलिस ने उन्हें रोक दिया। जिसके बाद सपाइयों को पुल से हटाने के बाद पुलिस ने बैरिकेटिंग कर पुल पर चढ़ने का रास्ता बंद कर दिया।

 

SP workers

 

सीएम को करना है लोकार्पण
शहामतगंज का ओवरब्रिज समाजवादी पार्टी की सरकार में मंजूर हुआ था, लेकिन इसका काम अब भाजपा सरकार में पूरा हुआ है। ओवरब्रिज को लेकर दोनों दल क्रेडिट लेने की होड़ में है। पुल का लोकार्पण मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से कराए जाने की बात चल रही है, लेकिन अभी सीएम का समय नहीं मिल पाया है।

31 पिलर पर बना ब्रिज
शहर को दो हिस्सों को जोड़ने के लिए शहामतगंज में फ्लाई ओवर की मांग लम्बे समय से चली आ रही थी। पिछली सपा सरकार में 10 जून 2015 को तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने इस फ्लाईओवर को मंजूरी दी। जिसके बाद 22 जुलाई 2016 को इस पुल का प्रपोजल मंजूर किया गया और 25 अक्टूबर 2016 को पुल के लिए भूमि पूजन किया गया। शहामतगंज का ये पुल 7.5 मीटर ऊंचा और 1017 मीटर लम्बा है। ये पुल 31 पिलर पर टिका हुआ है और पुल को बनाने में करीब 42 करोड़ रुपये खर्च हुए हैं।

Ad Block is Banned