scriptSaurabh 11 years ago became Suhail Now back to Hinduism | Religious conversion : 11 साल पहले सौरभ बना था सुहेल, अब हिंदू धर्म में की वापसी | Patrika News

Religious conversion : 11 साल पहले सौरभ बना था सुहेल, अब हिंदू धर्म में की वापसी

करीब 11 साल बाद सुहेल फिर से सौरभ रस्तोगी बन गया। बरेली में हिन्दू धर्म में घर वापसी का मामला सामने आया है। एक मौलवी के कहने पर 11 वर्ष पूर्व पूरे परिवार ने हिन्दू धर्म को त्याग कर मुस्लिम धर्म को अपना लिया था।

बरेली

Published: July 12, 2022 04:48:27 pm

करीब 11 साल बाद सुहेल फिर से सौरभ रस्तोगी बन गया। बरेली में हिन्दू धर्म में घर वापसी का मामला सामने आया है। एक मौलवी के कहने पर 11 वर्ष पूर्व पूरे परिवार ने हिन्दू धर्म को त्याग कर मुस्लिम धर्म को अपना लिया था। पर इस परिवार के बेटे सुहेल ने मुस्लिम धर्म को त्याग कर फिर से हिन्दू धर्म अपना लिया है। सौरभ ने हवन-पूजा और पूरे विधि विधान के साथ दोबारा अपना शुद्धिकरण किया। इस दौरान उन्होंने हनुमान चालीसा भी सुनाई। सौरभ की दिली इच्छा है कि, उनके माता-पिता और पूरा परिवार भी घर- वापस कर लें। हिंदू धर्म में वापसी का पूरा कार्यक्रम अगस्त्य मुनि आश्रम के पंडित केके शंखधार ने किया।
11 साल पहले सौरभ बना था सुहेल, अब हिंदू धर्म में की वापसी
11 साल पहले सौरभ बना था सुहेल, अब हिंदू धर्म में की वापसी
पूरा परिवार बन गया था मुस्लिम

सुहेल उर्फ सौरभ रस्तोगी ने बताया कि, 11 साल पहले एक मौलवी के बहकावे में उनके पूरे परिवार ने मुस्लिम धर्म स्वीकार कर लिया था। उनके पिता वीरेन्द्र कुमार रस्तोगी मोहम्मद साहिल बन गए, बेटे सौरभ का नाम मोहम्मद सुहेल और बेटी प्रीति का नाम बदलकर उरुज कर दिया था। मौलवी ने ही मेरी मुस्लिम युवती से शादी कराई थी लेकिन अब तलाक हो गया। उन्होंने 11 साल मुस्लिम धर्म में बिताए लेकिन उनका मन लगातार हिंदू धर्म में लगा रहा। सौरभ रस्तोगी मूल रूप से अमरोहा जिले की कुरैशी चौपाल के रहने वाले है।
यह भी पढ़ें

प्रयागराज में ByeByeModi पोस्टर लगाने वाले 5 गिरफ्तार, पुलिस का दावा इस राज्य में रची गई थी साजिश

जान को खतरा, डीएम से मांगी सुरक्षा

सौरभ रस्तोगी ने बताया कि, हिंदू धर्म में आस्था जताने के कारण उनकी जान को खतरा हो गया है। दो महीने से वह घर से भागकर बरेली में अपने रिश्तेदारों के यहां छिपे हुए हैं। डीएम कार्यालय में भी प्रार्थनापत्र देकर हिंदू धर्म स्वीकार करने की अनुमति और सुरक्षा मांगी है। इसलिए अब वो अपने गृह जनपद अमरोहा कभी नहीं जा पाएगा और अपनी जिन्दगी को एक बार फिर नए सिरे से शुरू करेगा। इसमें कहा गया है कि, उनके सभी शैक्षिक दस्तावेज भी सौरभ रस्तोगी नाम से ही हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

प्रधानमंत्री मोदी आज गोवा में ‘हर घर जल उत्सव’ को करेंगे संबोधितJanmashtami 2022: वृंदावन के श्री बांके बिहारीजी मंदिर में होती है जन्माष्टमी की धूम, जानिए इस मंदिर से जुड़ी खास बातेंकर्नाटक की राजनीति: येडियूरप्पा के लिए भाजपा ने क्यों बदला अलिखित नियमदिग्विजय सिंह का बड़ा बयान, बिल्डरों के साथ मिलकर कृषि कॉलेज की जमीन को बेच रहे अफसर-नेतापंजाब के अटारी बॉर्डर के पास दिखा ड्रोन, BSF की फायरिंग के बाद पाकिस्तान की तरफ लौटाविश्व कुश्ती चैंपियनशिप में प्रियांशी ने जीता कांस्यकौन हैं IAS राजेश वर्मा, जिन्हें किया गया राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू का सचिव नियुक्त?IND vs ZIM: शिखर धवन और शुभमन गिल की शानदार बल्लेबाजी, भारत ने जिम्बाब्वे को 10 विकेट से हराया
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.