शराब की दुकान खुलने का समाज सेवियों ने किया विरोध, बोले बढ़ेगी घरेलू हिंसा

लोगों का कहना है कि कोरोना काल में शराब की दुकान खुलने से संक्रमण के बढ़ने का खतरा है और घरेलू हिंसा की भी सम्भावना बढ़ गई है।

By: jitendra verma

Published: 05 May 2020, 03:29 PM IST

बरेली। लॉक डाउन में तीन में सरकार ने कुछ शर्तों के साथ शराब की दुकान भी खोलने की अनुमति प्रदान की है। लम्बे समय बाद खुली शराब की दुकानों पर लोगों की भीड़ उमड़ रही है जिसके कारण सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ रही हैं। वहीँ शराब की दुकान खुलने पर समाज सेवियों ने इस पर कड़ा एतराज जताया है। लोगों ने सोशल मीडिया पर भी शराब की दुकान खुलने का विरोध किया है। लोगों का कहना है कि कोरोना काल में शराब की दुकान खुलने से संक्रमण के बढ़ने का खतरा है और घरेलू हिंसा की भी सम्भावना बढ़ गई है।
फैसला वापस ले सरकार
मेरा हक फाउंडेशन की अध्यक्ष फरहत नकवी ने कहा कि लॉक डाउन में शराब की दुकान खुलने से शराब पीकर पति जब घर पर आएगा तो आपस में लड़ाई झगड़ों की संख्या ज़रूर बढ़ेगी और ये बहुत ही निंदनीय हैं। अभी तक सरकार के सभी फैसलों का हमने स्वागत किया तथा सरकार के फ़ैसले क़ाबिले तारीफ़ थे मगर सरकार के इस फ़ैसले ने ग़लत मोड़ लिया है। शराब की दुकानों पर सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन हो रहा है। उन्होंने मांग की है कि सरकार शराब की दुकान खोलने का फैसला वापस ले।
बढ़ेगी घरेलू हिंसा
जनसेवा टीम के अध्यक्ष पम्मी खान वारसी ने कहा कि लॉकडाउन के तीसरे चरण में शराब की दुकान खोलने का फैसला उचित नहीं है। शराब की दुकानें खुलने से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं हो पा रहा हैं। नशाखोरी से घरेलू हिंसा में वृद्धि होगी और शराब पीकर लोग शान्ति व्यवस्था खराब करेंगे। इतना ही नहीं शराब की दुकानों पर भी भीड़ लगने से कोरोना वायरस के फैलने का अंदेशा भी लगा रहेगा।

सोशल मीडिया पर भी विरोध

शराब की दुकानें खुलने का विरोध सोशल मीडिया पर भी देखने को मिला। तमाम लोगों ने सोशल मीडिया के विभिन्न प्लेटफार्म के माध्यम से सरकार के इस फैसले का विरोध किया। लोगों का कहना है कि शराब की दुकानों पर उमड़ रही भीड़ से संक्रमण का खतरा बढ़ गया है। इसके साथ ही तमाम लोगों ने मांग की है कि जब शराब की दुकान खुल सकती हैं तो अन्य दुकानों के भी खुलने की इजाजत मिले।

Corona virus
Show More
jitendra verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned