Urs E Razavi: जायरीनों के स्वागत की तैयारियां अंतिम चरण में, ये रहेंगे इंतजाम

स्वास्थ्य विभाग द्वारा अस्थायी चिकित्सालय, नगर निगम, रेलवे, दूरसंचार, दरगाह कार्यालय आदि के शिविर बनाये जा रहे हैं।

बरेली। आला हजरत का 101वां उर्स ए रज़वी 23 अक्टूबर को परचम कुशाई की रस्म के साथ शुरू हो जाएगा। तीन दिन तक चलने वाले उर्स में देश ही नहीं बड़ी तादात में जायरीन और उलेमा बरेली पहुंचते हैं। दरगाह आला हजरत से लेकर इस्लामिया मैदान तक उर्स की तैयारियां अंतिम चरण में है। उर्स ग्राउंड पर 300 उलेमा के बैठने के लिए मंच बनाया जा रहा है । वही स्वास्थ्य विभाग द्वारा अस्थायी चिकित्सालय, नगर निगम, रेलवे, दूरसंचार, दरगाह कार्यालय आदि के शिविर बनाये जा रहे हैं। इस्लामिक किताबों के स्टाल भी लगाए गए हैं।

Urs E Razavi: 101वें उर्स पर सज्जादानशीन ने जायरीनों से की ये ख़ास अपील

Urs E Razavi: जायरीनों के स्वागत की तैयारियां अंतिम चरण में, ये रहेंगे इंतजाम

रहने और लंगर की रहेगी व्यवस्था
दरगाह प्रमुख मौलाना सुब्हान रज़ा खान (सुब्हानी मियां) की ओर से जायरीनों को ठहराने के लिये दरगाह मेहमान खाने, अफ्रीकी हॉस्टल, मदरसा मंज़र ए इस्लाम, जसौली के मदरसा रहमानिया नूरिया, नूरी मेहमान खाना आदि में इंतेज़ाम किये गए है। प्रशासन की ओर से जायरीनों को ठहराने के लिए इस्लामिया कॉलेज, कस्तूरबा कॉलेज, खलील आदि में व्यवस्था की गयी है। उर्स में आने वाले जायरीनों के लिए बड़े पैमाने पर लंगर का भी इंतजाम किया गया है जो 22 तारीख से दरगाह पर रात दिन चलेगा। वहीँ ठिरिया निजावत खान, रहपुरा चौधरी, परसौना, तिलियापुर, पदारथपुर, मठ लक्ष्मीपुर आदि लंगर कमेटी भी उर्स स्थल के आस पास लंगर कराएंगी।

उर्स ए रज़वी में डीजे न लाने की अपील

Urs E Razavi: जायरीनों के स्वागत की तैयारियां अंतिम चरण में, ये रहेंगे इंतजाम

पहुंचने लगे जायरीन
दरगाह से जुड़े नासिर क़ुरैशी ने बताया कि देशी- विदेशी ज़ायरीन भी बराबर दरगाह पहुँच रहे हैं। इंग्लैंड के मशहूर उलेमा कमरूज़ज़्मा आज़मी के अलावा महाराष्ट, आंध्र प्रदेश, पश्चिम बंगाल, कर्नाटक, बिहार आदि से आए जायरीनों ने दरगाह पर हाज़िरी दी।

Urs E Razavi: गरीबों की आँखों में रोशनी की नई किरण लेकर आएगा आला हजरत का उर्स

Urs E Razavi: जायरीनों के स्वागत की तैयारियां अंतिम चरण में, ये रहेंगे इंतजाम

ये है उर्स का कार्यक्रम
23 अक्टूबर को बाद नमाज़ ए फज़्र रज़ा मस्जिद में क़ुरान ख्वानी होगी। दिन में आज़म नगर स्थित अल्लाह बख्श के निवास व ठिरिया निजावत खां से परचमी जुलूस सज्जादानशीन मुफ़्ती अहसन मियां की कयादत में दरगाह आला हज़रत पहुँचेगा। यहाँ से दरगाह प्रमुख मौलाना सुब्हानी मियां की कयादत में जुलूस उर्सगाह इस्लामिया ग्राउंड आएगा। यहाँ सुब्हानी मियाँ परचम कुशाई की रस्म से उर्स का आगाज़ करेंगे। रात में तरही नातिया मुशायरा होगा जो रात भर चलेगा। 24 अक्टूबर को सुबह 9 बजकर 58 मिनट पर रेहान-ए- मिल्लत हज़रत रहमानी मियां साहब के कुल शरीफ की रस्म अदा की जाएगी। दिन में विभिन्य कार्यकर्म चलते रहेंगे। रात 9 बजे तक़रीरी प्रोग्राम शुरू होगा। देर रात 1.40 मिनट पर मुफ़्ती ए आज़म के कुल शरीफ की रस्म अदा होगी।25 अक्टूबर की सुबह से ही दुनिया भर के मशहूर उलेमा की तक़रीर होगी। दोपहर 2.38 मिनट पर आला हज़रत फ़ाज़िले बरेलवी के कुल शरीफ की रस्म अदा की जाएगी इसी के साथ उर्स का समापन हो जायेगा।

Show More
jitendra verma
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned