scriptसीजेएम कोर्ट का फर्जी आदेश बनाकर थानों से रिलीज करवा रहे थे गाड़ियां, गैंग का पर्दाफाश | Patrika News
बरेली

सीजेएम कोर्ट का फर्जी आदेश बनाकर थानों से रिलीज करवा रहे थे गाड़ियां, गैंग का पर्दाफाश

सीजेएम का फर्जी आदेश बनाकर सीज वाहनों को थाने से रिलीज करने वाले रैकेट का पर्दाफाश हो गया है। रैकेट अब तक 11 गाड़ियों को फर्जी आदेश से छुड़ा चुका है।

बरेलीJul 08, 2024 / 11:32 am

Avanish Pandey

बदायूं। सीजेएम का फर्जी आदेश बनाकर सीज वाहनों को थाने से रिलीज करने वाले रैकेट का पर्दाफाश हो गया है। रैकेट अब तक 11 गाड़ियों को फर्जी आदेश से छुड़ा चुका है। सीजेएम के आदेश पर सिविल लाइंस कोतवाली में आरोपियों के खिलाफ धोखाधड़ी, जालसाजी का मुकदमा दर्ज कराया गया है।
फर्जी आदेश लेकर सीजेएम कोर्ट ही पहुंच गया गाड़ी मालिक

सिविल लाइंस कोतवाली में एफआईआर दर्ज की गई थी। 6 जुलाई को एक व्यक्ति ने अपने मुकदमे में सरकार बनाम रंजीत धारा 207 एमवी एक्ट से संबंधित गाड़ी का रिलीज आदेश लेकर सीजेएम कोर्ट पहुंचा। उसने कहा कि इस आदेश में कोर्ट की गोल मुहर नहीं लगी है। इसलिए उनकी गाड़ी थाने से नहीं छूट रही है। उसने कोर्ट के बाबू को गोल मुहर लगाने की बात कही। सीजेएम न्यायालय के बाबू मनोज यादव ने आदेश को देखा और रिकॉर्ड कार्यालय के रिकॉर्ड से उसका मिलान किया। इसमें पता लगा कि चालान का निस्तारण ही नहीं हुआ था। इसके साथ ही न्यायालय ने गाड़ी रिलीज करने का कोई आदेश जारी नहीं किया। फर्जीवाड़ा पकड़ में आने के बाद मामले में छानबीन शुरू हुई। इसके बाद खलबली मच गई।
सीजेएम के आदेश पर टीएसआई ने दर्ज कराया मुकदमा

सीजेएम का फर्जी आदेश बनाकर गाड़ियां रिलीज करने के मामले में कोर्ट ने कड़ा रुख अपनाया। इसके बाद टीएसआई रामसेवक राठौरको बुलाकर हाल ही में रिलीज की गई गाड़ियों के संबंध में प्रपत्रों का मिलन कराया गया। इसमें 10 और गाड़ी ऐसी पाई गई जिनमें फर्जी आदेश से उन्हें

Hindi News/ Bareilly / सीजेएम कोर्ट का फर्जी आदेश बनाकर थानों से रिलीज करवा रहे थे गाड़ियां, गैंग का पर्दाफाश

ट्रेंडिंग वीडियो