सिपाहियों ने खाई कसम, किसी अधिकारी या नेता को कोई गोली मार दे पर हम हथियार का प्रयोग नहीं करेंगे

सिपाहियों ने खाई कसम, किसी अधिकारी या नेता को कोई गोली मार दे पर हम हथियार का प्रयोग नहीं करेंगे

suchita mishra | Updated: 30 Sep 2018, 06:01:55 PM (IST) Bareilly, Uttar Pradesh, India

फेसबुक पर बने सिपाहियों के एक ग्रुप में सिपाही के पक्ष में जमकर पोस्ट की जा रही हैं और सिपाही का केस लड़ने के लिए रुपए भी जुटाए जा रहे हैं।

बरेली। लखनऊ में एप्पल कंपनी के एरिया मैनेजर विवेक तिवारी हत्याकांड में शामिल सिपाहियों के खिलाफ देश भर से कड़ी कार्रवाई की मांग की जा रही है। दूसरी तरफ इस हत्याकांड को अंजाम देने वाले आरोपी सिपाहियों के पक्ष में भी सोशल मीडिया पर मुहीम शुरू हो गई है फेसबुक पर बने सिपाहियों के एक ग्रुप में सिपाही के पक्ष में जमकर पोस्ट की जा रही हैं और सिपाही का केस लड़ने के लिए रुपए भी जुटाए जा रहे हैं। ग्रुप में शामिल लोग खाते में पैसा ट्रांसफर करने के बाद उसका स्क्रीनशॉट भी ग्रुप में पोस्ट कर रहे हैं इतना ही नहीं ग्रुप में शामिल सिपाही यह लिख रहे हैं कि हम सिपाही आज से कसम खाते है नेता या अफसरों को कोई गोली मार दे लेकिन अब हम कभी हथियार नहीं उठाएंगे। इसके साथ ही तमाम अन्य पोस्ट भी सिपाहियों के पक्ष में की गई है।

ये भी पढ़ें

विवेक तिवारी हत्याकांड के बाद ताजा हुई मुकुल एनकाउंटर की याद, आईपीएस पर है आरोप

क्या था मामला

एप्पल कंपनी के मैनेजर विवेक तिवारी अपनी एक महिला मित्र के साथ शुक्रवार देर रात गोमती नगर इलाके से गुजर रहे थे। जहां पर उन्हें प्रशांत चौधरी नाम के सिपाही ने गोली मार दी थी जिससे कि विवेक तिवारी की मौत हो गई थी। घटना के बारे में सिपाही का कहना है कि विवेक तिवारी ने उनकी मोटरसाइकिल में टक्कर मारी थी और उसे भी कुचलने की कोशिश की गई थी इसलिए आत्मरक्षा में उसने गोली चलाई जो विनोद तिवारी को लगी इस घटना के बाद लखनऊ पुलिस ने दो अज्ञात सिपाहियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था। पुलिस ने प्रशांत मलिक और एक अन्य सिपाही को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है साथ ही सिपाहियों को नौकरी से बर्खास्त कर दिया गया है।

ये भी पढ़ें

बरेली को मिला डेमू ट्रेन का तोहफा, केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार ने किया ट्रेन को रवाना- देखें वीडियो

चल रही मुहीम

इस हत्याकांड के बाद सोशल मीडिया पर यूपी पुलिस की जमकर किरकिरी हो रही है। और आरोपी सिपाहियों के पक्ष में भी मुहिम चलाई जा रही है सिपाहियों को कोर्ट केस लड़ने के लिए आर्थिक मदद मांगी जा रही है। खाते में तमाम लोग रुपये ट्रांसफर कर रहे हैं। ग्रुप में सिपाही की पत्नी की पासबुक की फोटो डाली गई है जिसमें खाता नंबर दिया गया है लोग इस खाते में रुपए ट्रांसफर कर रहे हैं। बरेली के भी सिपाहियों ने बताया कि ऐसे मैसेज रहे हैं अगर कोई बरेली से रूपये भेजेगा तो हम भी भेज देंगे।

ये भी पढ़ें

विवेक तिवारी हत्याकांड- सपा नेता बोले पुलिस अपराध के नाम पर निर्दोष लोगों को बना रही निशाना- देखे वीडियो

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned