script300 million barrels of oil trapped in rock rocks | 30 करोड़ बैरल तेल का भण्डार शैल चट्टानों में फंसा, अब निकालने की तैयारी | Patrika News

30 करोड़ बैरल तेल का भण्डार शैल चट्टानों में फंसा, अब निकालने की तैयारी

- अवसादी चट्टानों से निकला है अब तक तेल
- केयर्न और हैलीबर्टन कंपनी ने किया समझौता

बाड़मेर

Updated: November 18, 2021 12:13:51 pm

रेगिस्तान में एक और चुनौती पर कार्य-
30 करोड़ बैरल तेल का भण्डार शैल चट्टानों में फंसा, अब निकालने की तैयारी
- अवसादी चट्टानों से निकला है अब तक तेल
- केयर्न और हैलीबर्टन कंपनी ने किया समझौता
बाड़मेर पत्रिका.
रेगिस्तान में जमीन के भीतर अब शैल चट्टानों में फंसे क्रूड ऑयल के भण्डार को निकालने की तैयारी हो रही है। करीब 30 करोड़ बैरल के इस भण्डार को केयर्न और हैलीबर्टन कंपनी साझा अन्वेषण से निकालेगी। अबूधाबी(सऊदी अरब) में दोनों कंपनियों ने कान्फ्रेंस में की है। इससे पूर्व तेल अवसादी चट्टानों से निकाला गया है। शैल से अत्याधुनिक तकनीक से तेल निकालना चुनौतीपूर्ण माना जाता है।
ऑयल एण्ड गैस खोज की अत्याधुनिक तकनीक में बाड़मेर के मंगला ऑयल फील्ड में एनहैंस्ड ऑयल रिकवरी (ईओआर) पॉलीमर प्रोजेक्ट लाकर केयर्न ने यहां ऑयल रिकवरी रेट को बढ़ाया,इसके साथ ही सामने आया कि देश में शैल(चट्टानों) के बीच में भी क्रूड ऑयल के भण्डार है जो करीब 30 करोड़ बैरल के करीब है। इसके लिए अब केयर्न कंपनी ने बाड़मेर के हाइड्रोकार्बन बेसिन में कार्य प्रारंभ करने के लिए हैलीबर्टन कंपनी के साथ एक समझौता किया है। केयर्न पश्चिमी राजस्थान के निचले बाड़मेर हिल (एलबीएच) में यह खोज प्रारंभ करेगा।
इस मामले के बारे में केयर्न ऑयल एंड गैस के सीईओ, प्रचुर साह ने कहा, ऊर्जा पर्याप्तता हासिल करने के लिए, भारत को अपस्ट्रीम एक्सप्लोरेशन में सुधार करना चाहिए, ब्राउन फीलड्स के लिए टेक्नोलॉजी को बेहतर बनाना चाहिए और शेल जैसे अपरंपरागत ऊर्जा संसाधनों को प्रोत्साहित करना चाहिए। इस साझेदारी के साथ, हम अपरंपरागत ईंधन के नए युग की खोज के वादे के साथ सर्वोत्तम वैश्विक टेक्नोलॉजी का संयोजन कर रहे हैं। यह साझेदारी उत्पादन क्षमता को 5 लाख बैरल प्रतिदिन तक बढ़ाने के हमारे लक्ष्य की दिशा में एक और कदम है।
शैल से चुनौतीपूर्ण कैसे
शैल चट्टानें बारिश कणों के रूप में होती है। इनमें फंसे हुए ऑयल को निकालने के लिए अत्याधुनिक तकनीक की दरकार रहती है, जो इंजेक्शन रूप से लेकर पॉलीमेर से भी उच्च तकनीक की रहती है। देश में यह पहली शुरूआत होगी।
पायलट ड्रिल्स विकसित करेंगे
बाड़मेर बेसिन में शेल की संभावना का पता लगाने के लिए केयर्न और हॉलिबर्टन पायलट ड्रिल्स विकसित करेंगे। यहां मौजूदा शेल क्षमता 3 अरब बैरल है और इस साझेदारी के साथ केयर्न 30 करोड़ बैरल का भंडार स्थापित करना चाहती है। इस साल की शुरुआत में, केयर्न ने पड़ोसी ऐश्वर्या बाड़मेर हिल (एबीएच) साइट से तेल उत्पादन शुरू करने की भी घोषणा की थी। भारत ने अभी तक व्यावसायिक रूप शैल का उत्पादन नहीं किया है और यह सहयोग उस दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम होगा।
---------------------------------------------------
30 करोड़ बैरल तेल का भण्डार शैल चट्टानों में फंसा, अब निकालने की तैयारी
30 करोड़ बैरल तेल का भण्डार शैल चट्टानों में फंसा, अब निकालने की तैयारी

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Video Weather News: कल से प्रदेश में पूरी तरह से सक्रिय होगा पश्चिमी विक्षोभ, होगी बारिशVIDEO: राजस्थान में 24 घंटे के भीतर बारिश का दौर शुरू, शनिवार को 16 जिलों में बारिश, 5 में ओलावृष्टिदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगश्री गणेश से जुड़ा उपाय : जो बनाता है धन लाभ का योग! बस ये एक कार्य करेगा आपकी रुकावटें दूर और दिलाएगा सफलता!पाकिस्तान से राजस्थान में हो रहा गंदा धंधाइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजहार्दिक पांड्या ने चुनी ऑलटाइम IPL XI, रोहित शर्मा की जगह इसे बनाया कप्तानName Astrology: अपने लव पार्टनर के लिए बेहद लकी मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां

बड़ी खबरें

Club House Chat मामले में दिल्ली पुलिस कर रही 19 वर्षीय छात्र से पूछताछ, हरियाणा से भी हुई तीन गिरफ्तारियांCorona Vaccine: वैक्सीन के लिए नई गाइडलाइंस, कोरोना से ठीक होने के कितने महीने बाद लगेगा टीकामुंबई: 20 मंजिला इमारत में भीषण आग में दो की मौत, राहत बचाव कार्य जारीयूपी की हॉट विधानसभा सीट : गुरुओं की विरासत संभालने उतरे योगी आदित्यनाथ और अखिलेश यादवGood News: प्रियंका चोपड़ा और निक जोनस बने माता-पिता, एक्ट्रेस ने पोस्ट शेयर कर फैंस को बताया- बेबी आया है...ओमिक्रॉन का कहर-20 दिन में 117 फ्लाइट्स कैंसिलसरकारी स्कूल में कोरोना विस्फोट, पांच छात्र समेत टीचर की रिपोर्ट पॉजिटिव, SDM ने एक सप्ताह के लिए स्कूल किया बंदलखीमपुर खीरी कांड में दूसरी चार्जशीट दाखिल, चार किसानों को बनाया आरोपी, तीन को राहत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.