पर्यावरण के साथ सेहद दुरुस्त पर भी देगा वन विभाग ध्यान

- हर घर को मिलेंगे औषधीय पौधे, हरियाळी के साथ इम्युनिटी पावर बढ़ाने में भी होंगे सहायक

- गिलोय, तुलसी, कालमेघ, अश्वगंधा के पौधे आमजन को होंगे उपलब्ध

By: Dilip dave

Updated: 10 Jun 2021, 12:19 AM IST

बाड़मेर. हर बार पर्यावरण संरक्षण को लेकर पौधरोपण करने वाला वन विभाग इस बार लोगों की इम्युनिटी पावर को बढ़ाने का भी काम करेगा। इसको लेकर विभाग ने अब थार के हर घर में चार पौधे लगाने की मुहिम शुरू की है। अश्वगंधा, गिलोय, तुलसी और कालीमेघ के पौधे हर घर की शोभा बनेंगे जिससे कि कोरोना जैसी महामारी से लडऩे के लिए लोगों को घरों में ही औषधी मिल सके।

मानसून की दस्तक से पहले वन विभाग जिले में सघन पौधरोपण को लेकर योजना बनाता है। इसके तहत लोगों को पौधे वितरित किए जाते हैं। यहीं कारण है कि जिले में लोगों की पौधरोपण के प्रति सोच बनी है। इस बार कोरोना महामारी है जिसमें लोग आयुर्वेदिक काढ़े को रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए पी रहे हैं

। इसमें अश्वगंधा, तुलसी, कालमेघ व गिलोय का उपयोग किया जाता है। इन पौधों की घर में उपलब्धता नहीं होने से लोग परेशान हो रहे हैं। एेसे में वन विभाग ने इस बार औषधीय पौधे वितरित करने का निर्णय किया है।

उक्त चार पौधे एक-एक हर घर में दिए जाएंगे।

घर पर ही बन जाएगा काढ़ा- उक्त चारों पौधे लगने के बाद लोग घरों में ही आयुर्वेदिक काढ़ा बना पाएगा। आयुर्वेदिक काढ़ा ना केवल कोरोना वरन खांसी, जुकाम सहित विभिन्न बीमारियों के खिलाफ भी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है। एेसे में लोगों को बाजार से आयुर्वेदिक काढ़ा खरीद कर नहीं लाना पड़ेगा।

६.९४ घर जिले में - योजना के तहत वन विभाग की जिले की विभिन्न नर्सरी से हर घर को चार पौधे दिए जाएंगे। जिले में जनगणना के अनुसार ६ लाख ५१ हजार घर है। वहीं जन आधार योजना के तहत ६ लाख ९४ हजार घर है, जिसके अनुसार करीब २८ लाख पौधे जिले में वितरित किए जाएंगे। इच्छुक लोग वन विभाग की नर्सरी से चारों पौधों को ले जा सकेंगे।

पौधों का होगा वितरण- वन विभाग की ओर से इस बार पूरे जिले में औषधीय पौधों का वितरण किया जाएगा। हर घर को चार पौधे मिलेंगे। ये पौधे न केवल पर्यावरण संरक्षण में सहायक है वरन लोगों में इम्युनिटी पावर भी बढ़ाएंगे।- चन्द्रशेखर कौशिक, क्षेत्रीय वन अधिकारी

Dilip dave Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned