scriptAmarram did not break as much as he broke hands and feet, today he wil | हाथ-पांव टूटने पर नहीं टूटा जितना अमराराम, आज टूटेगा उतना | Patrika News

हाथ-पांव टूटने पर नहीं टूटा जितना अमराराम, आज टूटेगा उतना

- ग्राम विकास अधिकारी की परीक्षा नहीं दे पाएगा
- भर्तियों के इस दौर में वह रहेगा अस्पताल में भर्ती
- सरकार उसके इस समय को 2 लाख से ही चुका देगी क्या?

बाड़मेर

Updated: December 27, 2021 12:10:25 pm

ह्युमन एंगल
बाड़मेर पत्रिका.
आरटीआइ कार्यकर्ता अमराराम का दर्द पांवों में कीले ठोकने, बर्बरता से मारने और असहनीय दर्द के बाद कराहने पर जितना उठा उससे ज्यादा आज का दिन सोमवार उसके लिए दर्द देगा। वह पल-पल तड़पेगा। बार-बार आंसू बहाएगा और परिवारजनों के उतरे व स्याह चेहरों को देखकर हो सकता है वो टूटता भी नजर आएगा...वजह है अमराराम की आज ग्राम विकास अधिकारी की परीक्षा। उसके हाथ पांव नहीं तोड़े होते तो आज वह परीक्षा में बैठता,लेकिन आज वह मजबूर है। वह सवाल करता है सरकार के दो लाख से मेरा क्या होगा? क्या कसूरवारों को सजा देने के साथ सरकार मुझे अब नौकरी देगी? कब मैं ठीक होऊंगा और कब अपने परिवार का सहारा बनूंगा?
बीए-बीएड कर चुका अमराराम रीट में 119 नंबर लाया था और ग्राम विकास अधिकारी की परीक्षा की तैयारी भी मन से की। उसे नहीं पता था कि परीक्षा से ठीक पहले उसको इस दरिंदगी,हैवानियत और बर्बरता से पीटा जाएगा कि उसके हाथ-पांव तोड़कर बिस्तर पर पटक दिया जाएगा, जहां से वो कितने दिन बाद उठेगा और चल फिर सकेगा उसे खबर नहीं है? बेरोजगार अमराराम कहता है कि हादसे ने उसकी व परिवार की कमर तोड़ दी है। दो बच्चों की जिम्मेदारी उस पर है और मां-बाप ने बड़ी मुश्किल से पढ़ाया था। पिता ने बकरियां चराकर उसकी स्कूल व कॉलेज की जरूरतें पूरी की है, अब तो मुंह आया निवाला था। मेरे परिवार के मुंह से निवाला छीन लिया है।
चिकित्सकों ने ऑपरेशन किया है
जोधपुर में दाखिल अमराराम का चिकित्सकों ने ऑपरेशन कर लिया है लेकिन वह चलने-फिरने लायक कब होगा,यह अभी तय नहीं है। प्रतियोगी परीक्षाओं का यह दौर जिसमें उसने कई आवेदन दाखिल किए है उसमें न तो वह परीक्षा में बैठ पाएगा और न ही अध्ययन कर तैयारी कर पाएगा। ऐसे में अमराराम को खुद की सरकारी नौकरी आने वाले कई सालों तक नहीं लगने की फिक्र भी बढ़ रही है।
अनुकंपा कर सकती है सरकार
राज्य सरकार ने अमराराम के साथ हुई अमानवीय घटना को गंभीरता से लिया है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने दो लाख रुपए के साथ उपचार और सीआइडी सीबी को जांच सौंप दी है। यह सब कदम घटना के खुलासे के साथ अमराराम को तात्कालीन राहत की राशि है,लेकिन सवाल है कि अब उस पर सरकार अनुकंपा करे तो अमराराम और उसके परिवार की जिंदगी को संबल मिल सकता है।
यह है मामला
गिड़ा क्षेत्र के आरटीआइ कार्यकर्ता अमराराम गोदारा पर बर्बबरतापूर्वक हमला बुधवार को हुआ था। उसके पांवों में कीलें ठोक दी गई। हाथ-पांव तोड़ दिए और अधमरा कर फेंक दिया गया। जोधपुर अस्पताल में दाखिल अमराराम के साथ राज्य ही नहीं पूरे देश के लोगों को हमदर्दी है।
हाथ-पांव टूटने पर नहीं टूटा जितना अमराराम, आज टूटेगा उतना
हाथ-पांव टूटने पर नहीं टूटा जितना अमराराम, आज टूटेगा उतना

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Cash Limit in Bank: बैंक में ज्यादा पैसा रखें या नहीं, जानिए क्या हो सकती है दिक्कतहो जाइये तैयार! आ रही हैं Tata की ये 3 सस्ती इलेक्ट्रिक कारें, शानदार रेंज के साथ कीमत होगी 10 लाख से कमइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजमां लक्ष्मी का रूप मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां, चमका देती हैं ससुराल वालों की किस्मतShani: मिथुन, तुला और धनु वालों को कब मिलेगी शनि के दशा से मुक्ति, जानिए डेटइन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीराजस्थान में आज भी बरसात के आसार, शीतलहर के साथ फिर लौटेगी कड़ाके की ठंडPost Office FD Scheme: डाकघर की इस स्कीम में केवल एक साल के लिए करें निवेश, मिलेगा अच्छा रिटर्न

बड़ी खबरें

Subhash Chandra Bose Jayanti 2022: पीएम मोदी ने किया नेताजी की भव्य होलोग्राम प्रतिमा का अनावरणभारत में कम्युनिटी ट्रांसमिशन स्टेज पर पहुंचा ओमिक्रॉन वेरिएंट - केंद्र सरकारUP Assembly Elections 2022 : पलायन और अपराध खत्म अब कानून का राज,चुनाव बदलेगा देश का भाग्य - गृहमंत्री शाहराजपथ पर पहली बार 75 एयरक्राफ्ट और 17 जगुआर का शौर्य प्रदर्शन, देखें फुल ड्रेस रिहर्सल का वीडियोहेट स्पीच को लेकर हिन्दू संगठन पहुंचा सुप्रीम कोर्ट, कहा-मुस्लिम नेताओं की भी हो गिरफ्तारीअब नेशनल पार्कों में इलेक्ट्रिक व्हीकल से सफारी करेंगे पर्यटकमिशन रोजगार: यह है पहला राज्य जो 5 वर्षों में 15 लाख को देगा रोजगारकोविड टीकाकरण की पहचान आपके साथ में, अब पहनों ईमूनोबैंड अपने हाथ में
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.