गायब हो गई अन्नपूर्णा रसोई वैन, गरीबों का छिन गया सस्ता भोजन

- शहर में वैन के माध्यम से जगह-जगह उपलब्ध होता था नास्ता और खाना
- रियायती दर पर मिलने से गरीब और श्रमिकों को मिलता था फायदा

- सरकार बदलने के साथ गायब हुई अन्नपूर्णा रसोई का है इंतजार

बाड़मेर. गरीब, श्रमिक व जरूरतमंद को अन्नापूर्णा रसोई के माध्यम से मिलन वाल भोजन व नास्त पिछले तीन महीनों से बंद है। शहर से रसोई की वैन गायब हो गई है। श्रमिकों को सुबह-सुबह यहां पर मामूली दर पर नास्ता मिल जाता था।

वहीं दोपहर व रात में खाना भी उपलब्ध हो जाता था। लेकिन अब योजना में लगी गाडिय़ां शहर में कहीं नजर नहीं आती है। ऐसे में जरूरतमंद व गरीबों के लिए परेशानी पैदा हो गई है।

योजना के तहत कामकाजी महिलाओं, ऑटो चालकों, मजदूरों, विद्यार्थियों व बुजुर्गों, असहाय व जरूरतमंद लोगों को सुबह का नास्ता, दोपहर व रात का भोजन सस्ती दर पर मिलता था। इसके लिए शहर में निर्धारित स्थानों पर वैन लगती थी।

5 में नास्ता व 8 रुपए में भोजन

अन्नपूणाज़् रसोई वैन में 5 रुपए के नाश्ते में पोहा, सेवइयां, सांभर, लापसी, ज्वार व बाजरे का खीचड़ा सहित अन्य व्यंजन मिलते थे। इसके अलावा 8 रुपए में दोपहर व रात के भोजन में दाल चावल, खिचड़ी, चूरमा, नमकीन खिचड़़ा, कढ़ी, ढोकला, मीठा खीचड़ा आदि उपलब करवाए जाते थे।

शहर में यहां संचालित होती थी रसोई वैन

बाड़मेर शहर के गांधी चौक, रेलवे स्टेशन, विवेकानंद सर्कल, चौहटन चौराहा, सिणधरी चौहारा, महावीर पार्क सहित कई स्थानों पर वैन का ठहराव निश्चित था।

3000 से अधिक लोगों को मिलता था फायदा

शहर में संचालित होने वाली अन्नपूर्णा वैन से प्रतिदिन लगभग 3000 लोगों को फायदा मिल रहा था। रसोई योजना बंद होने से जरूरतमंदों के लिए परेशानी पैदा हो गई है।

योजना अच्छी थी

स्कूल में लंच के दौरान कम पैसों में नास्ता मिलता था। योजना बंद होने से ेअब इसका फायदा नहीं मिल रहा।

राहुल विद्यार्थी

भोजन भी सस्ता था

वैन में 8 रुपए में दोपहर व शाम को भोजन मिलता था। मजदूर वर्ग को इसका काफी राहत थी।

लूणाराम, मजदूर

29 दिसम्बर से बंद है

शहर में पांच रसोई वैन संचालित होती थी। पिछले 29 दिसम्बर से बंद है।

कपिल पालीवाल, सहायक अभियंता नगर परिषद बाड़मेर

Show More
Mahendra Trivedi Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned