बच्चों पर बुखार का कहर, कलक्टर पहुंचे अस्पताल

-देर शाम कलक्टर का जिला अस्पताल का आकस्मिक निरीक्षण
-बच्चों को भर्ती करने के लिए नहीं बेड, अस्पताल की गैलरी और बैंच पर किया जा रहा भर्ती

By: Mahendra Trivedi

Published: 04 Oct 2021, 10:01 PM IST

बाड़मेर. बाड़मेर में बढ़ती मौसमी बीमारियों के चलते अस्पताल में मरीजों को भर्ती करने की जगह नहीं बची है। अस्पताल की गैलरी और वार्ड में परिजनों के सोने के लिए दी जाने वाली बैंच पर भी बच्चों को भर्ती किया जा रहा है। बढ़ते मरीजों के चलते व्यवस्थाओं का का जायजा लेने सोमवार देर शाम जिला कलक्टर लोकबंधु अस्पताल पहुंचे। उन्होंने अस्पताल में मरीजों से चिकित्सा सुविधाओं की जानकारी जुटाई।
एमसीएच में बच्चों के लिए नहीं बेड
अस्पताल में बीमार बच्चों की संख्या तेजी से बढ़ी है। मौसमी बीमारियों से पीडि़त बच्चों के लिए एमसीएच यूनिट में बेड नहीं है। यहां पर बच्चों को गैलरी में अतिरिक्त बेड लगाकर भर्ती किया गया है। वहीं कुछ वार्ड में भी अलग से मिलने वाली बैंच पर बुखार से पीडि़त बच्चे भर्ती है। कलक्टर ने निरीक्षण के दौरान बच्चों के वार्ड में पहुंचकर बैंच पर भर्ती एक बच्चे की परिजन से जानकारी ली। जिले के आकल निवासी महिला का बच्चा बुखार से पीडि़त होने पर उसे रविवार को यहां भर्ती किया गया। बेड नहीं होने पर उसे परिजनों के बैठने की बैंच पर ही बेडशीट लगाकर भर्ती किया गया है।
पीआइसीयू का अवलोकन
कलक्टर ने कोविड की तीसरी लहर के मद्देनजर जनाना अस्पताल में बनाए गए पीआइसीयू का अवलोकन किया। इस दौरान कॉलेज प्राचार्य डॉ. आरके आसेरी ने उन्हें पीआइसीयू की सुविधाओं से अवगत करवाया। इस दौरान अस्पताल अधीक्षक डॉ. बीएल मंसूरिया भी साथ रहे।
मरीजों को नहीं होनी चाहिए परेशानी
बढ़ते डेंगू और अन्य मौसमी बीमारियों को देखते हुए अस्पताल की व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया। चिकित्सा अधिकारियों को निर्देश दिए कि मरीजों को किसी तरह की परेशानी नहीं आए। कुछ कमियां मिली है, उन्हें दुरुस्त करने का कहा गया है। मरीजों से मिलकर भी उनसे जानकारी ली गई।
लोकबंधु, जिला कलक्टर बाड़मेर

Mahendra Trivedi
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned