ट्रक में बताया गेहूं, तलाशी में मिली 50 लाख की अवैध शराब, पढि़ए पूरी खबर

ट्रक में बताया गेहूं, तलाशी में मिली 50 लाख की अवैध शराब, पढि़ए पूरी खबर

bhawani singh | Publish: Sep, 09 2018 06:43:44 PM (IST) Barmer, Rajasthan, India

https://www.patrika.com/barmer-news/

बाड़मेर. अवैध शराब तस्करी की रोकथाम के लिए चलाए जा रहे अभियान के तहत बाड़मेर पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली। सिणधरी थाना पुलिस टीम ने शनिवार देर रात पंजाब से गुजरात को जोडऩे वाले मेगा हाईवे पर सिणधरी सरहद में कार्रवाई करते हुए अवैध शराब से भरा ट्रक बरामद कर दो आरोपियों को गिरफ्तार किया।

 

पुलिस अधीक्षक मनीष अग्रवाल ने बताया कि पुलिस ने मेगा हाईवे पर गश्त के दौरान संदिग्ध लगने पर ट्रक को रुकवाने का प्रयास किया। चालक ट्रक को भगाने लगा, पुलिस ने एक किमी पीछा कर ट्रक को रुकवाया। पूछताछ में चालक ने ट्रक में गेहूं भरा होना बताया, संदेह पर पुलिस ने ट्रक से तिरपाल हटाकर तलाशी ली तो अरुणाचल प्रदेश निर्मित अवैध शराब के 1200 कर्टन भरे मिले। पुलिस ने आरोपी चालक सुरेश विश्रोई पुत्र किशनाराम निवासी वायद, रोहट पाली व दिनेश पुत्र हरचंद निवासी नेहड़ा पाली को गिरफ्तार कर मामला दर्ज किया। पुलिस मामले की जांच पड़ताल में जुटी है। कार्रवाई में थानाधिकारी गोपाल विश्रोई, एएसआई रावताराम, पूनमचंद, वीरमखां, डालूराम, महिराम, देवाराम शामिल रहे। पुलिस ने अवैध शराब की अनुमानित कीमत 50 लाख रुपए आंकी है।

 

सांचौर में होनी थी सप्लाई
हरियाणा से रवाना हुई अवैध शराब की खेप को सांचौर पहुंचाना था। यहां से छोटे वाहनों के जरिए यह शराब गुजरात में सप्लाई होनी थी। गुजरात में शराब बिक्री पर रोक है। वहां अवैध शराब को महंगे दामों में बेचा जाता है।

 

सात दिन में डेढ़ करोड़ की शराब पकड़ी
शराब तस्कर हरियाणा से गुजरात शराब पहुंचाने के लिए जोधपुर से बाड़मेर होते हुए जाते हैं। पिछले एक सप्ताह में करीब डेढ़ करोड़ की अवैध शराब आबकारी व पुलिस ने पकड़ी है। अवैध शराब की खेप आरोपियों ने पूछताछ में सांचौर पहुंचाना स्वीकार किया है।

 

दो गिरफ्तार, पकड़ी अवैध शराब की खेप
पुलिस ने पंजाब से गुजरात को जोडऩे वाले मेगा हाईवे पर अब तीसरी बार आबकारी के बाद अब पुलिस ने अवैध शराब की खेप पकड़ी। यह अवैध शराब की खेप सांचोर पहुंचनी थी। ेमेगा हाईवे पर शराब तस्करी का कारोबार लम्बे समय से चल रहा है।

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned