बारिश और नमी से टिड्डी के लिए अनुकूल स्थितियां, विभाग का दावा, पूरी मुस्तैदी

बारिश और नमी से टिड्डी के लिए अनुकूल स्थितियां, विभाग का दावा, पूरी मुस्तैदी

Mahendra Trivedi | Updated: 23 Jul 2019, 10:15:34 PM (IST) Barmer, Barmer, Rajasthan, India

मौजूदा समय में टिड्डी (tiddi) दल गडरा रोड़, रामसर, चौहटन, बायतु, बाड़मेर (barmer) मे देखा जा रहा है। इसके अलावा जहां पर टिड्डी (grasshopper) बैठ चुकी है, वहां पर उसके छोटे बच्चे फाका निकलने की आशंका है।

बाड़मेर. टिड्डी नियंत्रण के लिए जिला प्रशासन पूरी तरह चाक-चौबंद है और कीटनाशक, वाहन सहित सभी जरूरी संसाधन पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है। टिड्डी नियंत्रण (tiddi control) की राज्य एवं जिला (district) स्तर पर प्रतिदिन मॉनिटरिंग की जा रही है।
कृषि मंत्री (krishi mantri) लालचन्द कटारिया ने बताया कि बाड़मेर एवं जैसलमेर (barmer&jaisalmer) से टिड्डी दूसरी जगह शिफ्ट (shift) हो रही हैं। लेकिन विभाग के अधिकारी पूरी मुस्तैदी से टिड्डी नियंत्रण में लगे हुए हैं। उनके मुताबिक प्रशासन पूरी तरह चाक-चौबंद है। कीटनाशक एवं वाहन समेत अन्य जरूरी संसाधन पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है। जहां किसी प्रकार की मांग आती है तो तत्काल उसके अनुसार अतिरिक्त बजट उपलब्ध कराकर व्यवस्था कराई जा रही है। कटारिया ने बताया कि वे स्वयं प्रतिदिन रिपोर्ट लेकर टिड्डी नियंत्रण की मॉनिटरिंग कर रहे हैं। प्रभावित जिलों के जिला कलक्टर (collectors) से बात कर समय-समय पर आवश्यक निर्देश दिए जा रहे हैं। टिड्डी से फसलों को नुकसान (damage) नहीं होने दिया जाएगा।
जहां बैठी टिड्डी, वहां फाके की आशंका
इधर,कृषि विभाग के उप निदेशक किशोरी लाल वर्मा ने बताया कि बाड़मेर जिले में हल्की बारिश (rain) एवं नमी की वजह से टिड्डी दल के हमले के अनुकूल स्थिति बनी हुई है। मौजूदा समय में बुवाई भी शुरू हो गई है। ऐसी स्थिति में टिड्डी दल के छोटे झुंड में आने के साथ आगामी दिनों में भी इसके आने का खतरा (danger) बरकरार है। उन्होंने बताया कि मौजूदा समय में टिड्डी दल गडरा रोड़, रामसर, चौहटन, बायतु, बाड़मेर मे देखा जा रहा है। इसके अलावा जहां पर टिड्डी बैठ चुकी है, वहां पर उसके छोटे बच्चे फाका निकलने की आशंका है। उन्होंने बताया कि जिले में टिड्डी नियंत्रण के लिए कीटनाशक छिड़काव (chemical spray) के साथ सर्वे (survey) किया जा रहा है। उन्होंने किसानों (farmers) को सलाह दी है कि टिड्डी दल आने पर ढोल अथवा थाली बजाकर फसल पर बैठने नहीं दें।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned