अरे कैसा भाई, यहां भाई-वाई नहीं, रुपए चलते हैं....बाड़मेर के एक तहसील कार्यालय में जन्म प्रमाण पत्र के लिए मांगी रिश्वत।

भाई वगैरह कुछ नहीं, यहां रुपए चलते हैं, धोरीमन्ना तहसील का वीडियो वायरल, 50 रुपए रिश्वत के लिए तो पीडि़त पक्ष ने बनाया वीडियो रहा चर्चा का विषय

By: भवानी सिंह

Published: 04 Jan 2018, 10:08 PM IST

अरे कैसा भाई, यहां भाई-वाई नहीं, रुपए चलते हैं....बाड़मेर के एक तहसील कार्यालय में जन्म प्रमाण पत्र के लिए मांगी रिश्वत। 50 रुपए लिए तो वीडियो में हुआ कैद। फिर ऐसा सच आया सामने कि आप चौंक जाएंगे, देखिए और पढिए पूरी खबर

 

बाड़मेर। धोरीमन्ना तहसील कार्यालय में जन्म प्रमाण पत्र बनवाने के लिए 'दक्षिणा' देनी पड़ती है। करीब दो दिन पहले एक जने ने कार्यालय के लिपिक को इसके लिए 50 रुपए थमाए और बाद में इसका वीडियो भी बनवाया। उसे उसने सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। पिछले दो दिन से धोरीमन्ना व आसपास के क्षेत्र में यह वीडियो चर्चा का विषय बना है।


यह है वीडियो मे
जन्म प्रमाण पत्र बनवाने पहुंचे फरियादी से तहसील में कार्यरत बाबू ने 150 रुपए की मांग की। इस पर उसने 50 रुपए दे दिए। इस पर बाबू कहता है कि अरे 50 रुपए से काम नहीं होगा। फिर फरियादी बोलता है कि साहब आपका भाई हूं। फिर बाबू कहता है कि यहां पैसो से काम होता हैं, भाई काम नहीं आते है। यह वाकया फरियादी के पास में खड़े युवक ने अपने मोबाईल में कैद कर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया।

तीन आवेदन, 300 रुपए मांगे
पीडि़त पक्ष ने बताया कि जन्म प्रमाण पत्र के लिए तीन आवेदन किए थे, उसकी एवज में बाबू ने तीन सौ रुपए मांगे। इस पर मैने एक प्रमाण पत्र के पचास रुपए नकद दिए है। इसे लेकर वीडियो बनाया और उच्चाधिकारियों को दिखाया। अब देखते हैं कि क्या कार्रवाई होती है।


हमने पाबंद किया है,
एक फरियादी की ओर से जन्म प्रमाण पत्र बनवाने के मामले में शिकायत आई थी कि यहां कार्यालय में लिपिक ने उससे रुपए मांगे हैं। इसे लेकर संबंधित लिपिक को हमने पाबंद कर दिया है। आगे से ऐसी शिकायत आई तो सख्त कार्रवाई कर उसको यहां से रिलीव किया जाएगा। - कैलाशचंद गहलोत, तहसीलदार

 

भवानी सिंह
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned