समर्थन मूल्य पर बेचा चना व सरसों, भुगतान का जवाब कल-परसों

- किसानों को अब तक नहीं मिला भुगतान, घर से बैंक और समर्थन मूल्य केन्द्र के बीच भटकने को मजबूर
- बाजार से भाव ज्यादा, हुई थोक तुलवाई

By: Dilip dave

Published: 25 Apr 2018, 06:03 PM IST

 

 

बालोतरा.

केन्द्र सरकार के समर्थन मूल्य पर सरसों व चना खरीदने के निर्णय पर खुश हुए किसान तुलाई बाद अब पछता रहे हैं। तुलाई के बीस दिन बाद भी किसानों के खातों में राशि जमा नहीं हुई है। अधिकारी शीघ्र रुपए जमा होने की बात कह रहे हैं। ऐसे में विवाह आयोजन, मकान निर्माण आदि कार्यों में रुपए की जरूरत को लेकर किसानों की दिक्कतें बढ़ गई हैं।
किसानों को मेहनत व फसल का उचित दाम मिले, इसे लेकर केन्द्र सरकार ने इस वर्ष प्रदेश में समर्थन मूल्य पर सरसों व चना खरीद का निर्णय किया। बाजार भाव से समर्थन मूल्य की कीमत अधिक होने पर प्रदेश व जिले के किसानों में खुशी की लहर दौड़ गई। केन्द्र सरकार की संस्था नैफेड ने 2 अप्रेल से प्रदेश में राजफैड के माध्यम से खरीद शुरू करते हुए जगह-जगह खरीद केन्द्र खोले। बाड़मेर जिले के कृषि मण्डी बालोतरा व कृषि मण्डी सिवाना में खरीद केन्द्र खोल खरीद शुरू की। जिले में 2 अप्रेल से समर्थन मूल्य पर खरीद शुरू होने के बाद जिले के सैकड़ों किसानों ने ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवाकर बारी आने पर सरसों, चना की तुलवाई करवाई।

रुचि ले रहे किसान, थोक खरीदारी - प्रति क्ंिवटल सरसों का समर्थन मूल्य 4000 रुपए व चना का 4400 रुपए हैं। बाजार में सरसों 3200 से 3500 रुपए व चना 3600 से 4000 रुपए प्रति क्ंिवटल बिक रहा है। प्रति क्ंिवटल 400 से 600 रुपए अधिक मिलने पर किसान फसल को समर्थन मूल्य पर बेचने में रुचि ले रहे हैं। जानकारी अनुसार 23 अप्रेल तक बालोतरा केन्द्र पर सरसों 2000 क्ंिवटल, चना 1600 क्ंिवटल व सिवाना केन्द्र पर सरसों 101 क्ंिवटल व चना 3416 क्ंिवटल बिकने पहुंचा।

कई बार सम्पर्क, संतोषजनक जवाब नहीं- बालोतरा में केन्द्र खुलने पर 12 अपे्रल को माल की तुलाई की थी। इसके बाद भुगतान को लेकर कई बार केन्द्र व संस्थान उच्चाधिकारियों से सम्पर्क कर चुका हूं। संतोषप्रद जबाब नहीं दे रहे हंै। भुगतान कब होगा, यह भी जानकारी नहीं दे रहे हंै। बहुत परेशान हूं। - नेमाराम पटेल, किसान बुड़ीवाड़ा
चार अप्रेल को तुलाई, अब तक नहीं भुगतान- बालोतरा में केन्द्र खुलने पर 4 अप्रेल को चना की तुलाई करवाई थी, लेकिन अभी तक खाते में रुपए जमा नहीं करवाए हैंं। अधिकारियों से पूछने पर हर बार शीघ्र जमा होने की बात कहते हैं। दिक्कत हो रही है। - बाबूसिंह, किसान कालूड़ी

समय पर भुगतान नहीं होने से परेशानी- सरकार किसानों की समस्याओं को लेकर गंभीर नहीं है। कड़ी मेहनत पर फसल तैयार होती है। समय पर इसका भुगतान नहीं करने से किसानों को कई तरह की परेशानियां उठानी पड़ती हैं। सरकार किसानों को शीघ्र भुगतान करें। - विजय चौधरी, मोडाऊ
भुगतान प्रक्रिया जारी, शीघ्र होने की उम्मीद- केन्द्रों पर खरीद जारी है। अभी तक किसी किसान को खरीद का भुगतान नहीं किया गया है। प्रक्रिया जारी है। शीघ्र भुगतान होने की उम्मीद है। - भगवानसिंह शेखावत, क्षेत्रीय अधिकारी राजफैड जोधपुर

 

Dilip dave Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned