कोरोना गया नहीं, लोगों के चेहरे से हटा मास्क, भीड़ से खतरा

-कोविड काबू में लेकिन लापरवाही से फिर बढ़ सकता है संकट
-त्योहारों के कारण भारी भीड़-भाड़, मास्क पहनने वाले कम
-केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने फिर चेताया, कोविड अनुरूप व्यवहार करें
-संदिग्ध मरीज लगातार आ रहे सामने, राहत यह कि पॉजिटिव नहीं मिल रहे
-मेडिकल कॉलेज लैब में 200 से अधिक नमूनों की रोजाना जांच

By: Mahendra Trivedi

Updated: 11 Oct 2021, 08:58 PM IST

बाड़मेर. कोविड काफी हद तक काबू में आता दिख रहा है। लेकिन इसके केस लगातार सामने आने से अलर्ट रहने की भी जरूरत है। हालांकि केस की संख्या काफी कम है। फिर भी रोज किसी ने किसी जिले में कोविड संक्रमित लगातार मिल रहे हैं। ऐसे में त्योहरों को देखते हुए अलर्ट रहने की जरूरत है। खासकर कोविड अनुरूप व्यवहार को लेकर। लेकिन कुछ समय से यह देखा जा रहा है कि लोग अब मास्क को भूलते जा रहे हैं। जबकि संक्रमण की मौजूदगी बनी हुई है। इसके चलते ही नए केस सामने आ रहे हैं। कें्रद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने भी त्याहारों को देखते हुए कोविड अनुरूप व्यवहार करने के लिए अलर्ट किया है।
त्योहारी सीजन शुरू हो चुका है। हर जगह भीड़-भाड़ बढती जा रही है। लोग खरीदारी के लिए बाजारों में पहुंच रहे हैं। सब कुछ सामान्य स्थिति हो चुकी है। बाजार भी अब देर रात तक खुल रहे हैं। ऐसे में विभाग की सलाह है कि लोग सावधानी बरतें और कोविड से बचाव के तरीके अपनाते हुए खुद को सुरक्षित रखें।
दूसरी लहर भी ऐसे ही आई थी
कोविड की पहली लहर खत्म होने की कगार पर थी। तब लोगों ने इसे हल्के में लिया और कोविड अनुरूप व्यवहार और मास्क नहीं पहनने के कारण दूसरी लहर ने कहर बरपा दिया। इसलिए अभी भी सावधानी बहुत जरूरी है। विशेषज्ञ बताते हैं कि कोविड अनुरूप व्यवहार अभी जरूरत बना हुआ है। हालांकि वैक्सीनेशन भी हो रहा है। लेकिन अभी दवा के साथ नियमों की पालना जरूरी है।
मास्क को लेकर लोग बेफिक्र
आमजन अब मास्क को लेकर बेफिक्र नजर आता है। भीड़ में कुछ लोग ही मास्क पहने दिखते हैं। मास्क पहनने में समझदारी है। हालांकि अस्पताल आदि स्थानों पर अब भी लोग मास्क पहने नजर आते हैं। लेकिन बाजारों में खरीदारी करने वालों में मास्क कहीं नजर नहीं आ रहा है।
जिले में अक्टूबर में नहीं आया नया केस
बाड़मेर जिले में कोविड को लेकर अक्टूबर में अब तक कोई नया केस नहीं मिला। यह राहत की खबर है। लेकिन सितम्बर महीने में कोविड के मामले मिले थे। इस दौरान 11 नए मामले सामने आए थे। हालांकि अभी भी संदिग्ध मरीज मिलने पर उनकी जांच करवाई जा रही है। नए भर्ती होने वाले तथा जिनका ऑपरेशन होना है, उनकी भी पहले कोविड की टेस्टिंग होती है।
200 से अधिक नमूने रोज लिए जा रहे
जिले में अब भी 200 से अधिक नमूने रोजाना लिए जा रहे हैं। इनमें ओपीडी में आने वाले संदिग्ध रोगी भी है। अब जिला अस्पताल में भी कोविड नमूने लेने शुरू कर दिए। क्योंकि मौसम में बदलाव के चलते कोविड जैसे लक्षणों के मरीजों की अधिकता हो गई है।

Mahendra Trivedi
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned