विभाग कह रहा है कर्मचारी नहीं, संसाधन सीमित है तो क्या लोग यूं ही मरते रहेंगे, आखिर जिम्मेदार कौन?

Moola Ram

Publish: Oct, 13 2017 01:56:37 (IST)

Barmer, Rajasthan, India
विभाग कह रहा है कर्मचारी नहीं, संसाधन सीमित है तो क्या लोग यूं ही मरते रहेंगे, आखिर जिम्मेदार कौन?

- तीन दिन बाद जागा खाद्य सुरक्षा विभाग, अब ले रहे हैं नमूने - पत्रिका में खबर प्रकाशन के बाद हरकत में आए अधिकारी - कलक्टर ने दिए पूरे जिले में कार्र

बाड़मेर. गुड़ामालानी क्षेत्र में आइसकैण्डी खाने से तीन मासूमों की मौत के बाद अब जिम्मेदार चेते हैं। हालांकि रटा-रटाया जवाब अब भी यही है कि पर्याप्त स्टॉफ नहीं है। संसाधन सीमित है। पत्रिका में समाचार प्रकाशन के बाद जिला प्रशासन समेत तमाम जिम्मेदार गुरुवार को हरकत में आए। जगह-जगह खाद्य पदार्थों के नमूने लिए गए। इस दरम्यिान रामजी का गोल में एक्सपाइरी तिथि की कोल्ड ड्रिंक्स मिली, जिसे फिंकवाया गया। गुड़ामालानी में कई दुकानों से नमूनेे लिए गए। आसपास के कई इलाकों में डर से व्यापारियों ने दुकानें ही बंद कर दी।

पत्रिका ने चेताया

तीन मासूमों की मौत के बाद पत्रिका ने जिले में बर्फ की 8 फैक्ट्रियां, विभाग ने कभी नहीं किया सर्वे शीर्षक से समाचार प्रकाशित कर विभाग की कार्रवाई पर सवाल खड़े किए थे। ऐसे में जिम्मेदार अधिकारियों ने विशेष टीम का गठन कर कार्रवाई को अंजाम दिया। इधर, जिला कलक्टर ने भी इस मामले को गंभीरता से लिया है। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग समेत सभी उपखंड अधिकारियों को बिना मानक, मिलावटी और बिना पैकिंग नियमों के बिक रहे खाद्य पदार्थों को जब्त करने को कहा है।
सीएमएचओ डॉ. कमलेश चौधरी से सीधी बात

सवाल - आइसकैण्डी से मौत के मामले में पहले दिन क्या किया?
जवाब- उसी दिन टीम को मौके पर भेज दिया था।

सवाल- उस दिन टीम खाली हाथ लौटी थी, महज औपचारिकता निभाई?
जवाब- ऐसा नहीं है। उसी दिन के बाद हमारी टीम वहां लगी हुई है।

सवाल - हादसे के बाद कार्रवाई क्यों, पहले क्यों नहीं?
जवाब- समय-समय पर कार्रवाई की जाती है। हमारे पास महज एक अधिकारी व सीमित संसाधन है।

सवाल - इसके लिए जिम्मेदार कौन?
जवाब- हादसे के लिए दुकानदार व बनाने वाले जिम्मेदार है।

कार्रवाई के लिए कहा है

मासूमों की मौत दुखद घटना है। जिला प्रशासन पूरी संवेदना व्यक्त करता है। मिलावटी वस्तुओं की बिक्री रोकने, बिना पैकिंग की खाद्य सामग्री को लेकर तमाम जिम्मेदारों को कार्रवाई के लिए कहा है। जिले भर में सघन अभियान चल रहा है।
शिवप्रसाद नकाते, जिला कलक्टर

बेस्ट बिफोर की डेट के बाद भी बेच रहे थे कोल्ड ड्रिंक
रामजी का गोल फांटा। कस्बे में गुरुवार को गुड़ामालानी उपखण्ड अधिकारी खुशाल यादव के नेतृत्व में मिठाई की दुकान से मावे का सैंपल लिया गया। जिला खाद्य सुरक्षा अधिकारी भूराराम गोदारा, गुडामालानी तहसीलदार बद्रीनारायण विश्नोई सहित टीम ने दुकान से मावे सहित मिठाई का सैंपल लिया। यहां एक्सपायर पेय पदार्थ की कोल्ड ड्रिंक बोतलें को मौके पर खाली करवाया गया। सैंपल की कार्रवाई को लेकर दुकानदारों में हड़कम्प मच गया। कई दुकानें बंद होने से कारवाई नहीं हो सकी।

गुड़ामालानी. खाद्य सुरक्षा विभाग की ओर से गुरुवार को मिलावटी खाद्य एवं पेय पदार्थों रोकथाम के लिए अभियान के तहत गुड़ामालाणी क्षेत्र से चार सैंपल लिए। इसके साथ बर्फ, आइसकैंडी को मौके पर नष्ट करवाया।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned