बाड़मेर में ई-पास के 8 हजार 849 आवेदन निरस्त, 3 हजार कतार में

- निरस्त आवेदन में 90 प्रतिशत महाराष्ट्र व मुम्बई में फंसे है प्रवासी
- ई-पास भी नहीं बन रहा मददगार
- प्रदेश में 1 लाख 86 हजार आवेदन लंबित

By: Mahendra Trivedi

Published: 13 May 2020, 07:55 PM IST

बाड़मेर . कोविड-19 के चलते अन्य राज्यों में फंसे प्रवासियों को घर वापसी की उम्मीद को लेकर सरकार का ई-पास भी मददगार नहीं बन रहा है। प्रदेश में ई-पास के लिए 1 लाख 86 हजार आवेदन लंबित है। इन्हें न तो खारिज किया गया है और न ही ई-पास जारी हुआ है। ऐसी स्थिति में यह लोग आवेदन के बाद ऑनलाइन स्टेट्स देखकर चक्कर घिन्नी बने हुए है।
प्रदेश में अब तक 45 हजार 250 ई-पास जारी हुए हैं। जबकि 1 लाख 86 हजार आवेदन लंबित है। वहीं 24 हजार 512 आवेदन प्रदेश के निरस्त किए गए है। बाड़मेर जिले में वर्तमान में 3 हजार 824 आवेदन लंबित है। जबकि पाली में 32 हजार व जालोर में 28 हजार आवेदन लंबित है।
इसलिए हुए 8 हजार आवेदन निरस्त
बाड़मेर जिले में ई-पास के लिए हुए आवेदनों में से 8 हजार 849 आवेदन निरस्त किए गए है। जिसमें जिला प्रशासन का तर्क है कि इन आवेदनों में 90 प्रतिशत मुम्बई व महाराष्ट्र से आवेदन आए है। यह क्षेत्र कोरोना के चलते हॉट स्पॉट घोषित कर रखा है। वहीं सबसे ज्यादा आवेदन सीकर में निरस्त हुए है। सीकर जिले का आंकड़ा 9 हजार 210 है।
े---
प्रदेश: ई-पास आंकड़े
लंबित : 1 लाख 86 हजार
निरस्त : 24 हजार 512
स्वीकृत : 45 हजार 250
---
बाड़मेर: ई-पास आंकड़े
लंबित : 3 हजार 824
निरस्त : 8 हजार 849
स्वीकृत - 815
---
- हॉट स्पॉट क्षेत्र के आवेदन निरस्त हुए हैं
बाड़मेर में ई-पास के लंबित आवेदन मंगलवार शाम तक पूर्ण करने का प्रयास रहेगा। निरस्त होने का आंकड़ा इसलिए बढ़ा है कि 90 प्रतिशत यह आवेदन महाराष्ट्र व मुम्बई क्षेत्र के थे। इसलिए इन्हें निरस्त किया गया।
- विश्राम मीणा, जिला कलक्टर, बाड़मेर

Mahendra Trivedi Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned