बाड़मेर. कोरोनाकाल में शिक्षकों की मेहनत ने राउमावि खुडासा की सूरत बदल दी। एक तरफ स्माईल-३ के तहत ऑनलाइन शिक्षण पर जोर देकर शिक्षकों ने विद्यार्थियों को पढ़ाई से जोड़ कर रखा तो दूसरी तरफ स्कू  ल पर ध्यान देते हुए इसे हरियाली से महका दिया।

पंचायत समिति बाड़मेर के इस विद्यालय में १६ का स्टाफ है। प्रधानाचार्य राजेन्द्र चौधरी के साथ इतिहास की व्याख्याता मधु चौधरी, अंगे्रजी के वीरेन्द्र चौधरी, हिंदी के राजीव खदाव आदि ने निर्णय किया कि वे हर बच्चे पर ध्यान रखेंगे जिससे की पढ़ाई बर्बाद न हो।

इस पर वे प्रतिदिन ऑनलाइन क्लास ले रहे हैं। जिससे बच्चों का शिक्षण स्तर सुधरा है। 532 विद्यार्थियों के स्कू  ल में हर बच्चे की मॉनिटरिंग के लिए शिक्षकों को जिम्मा सौंपा गया।

इधर, स्कू  ल लम्बे समय से बंद रहने पर इसकी देखभाल करते हुए यहां बगीचा तैयार किया। समाजसेवी भेराराम थोरी के सहयोग से विद्यालय पर ध्यान दिया गया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned