हार्ड ड्यूटी फिर भी पदोन्नति के लिए लंबा इंतजार, आखिर ऐसा क्यों? जानिए पूरी खबर

- पुलिस में तैनात पुलिस वाहन चालक कांस्टेबलों को पदोन्नति के लिए करना पड़ता है लंबा इंतजार, यहां 760 चालकों पर एक सब इंस्पेक्टर- प्रदेश भर में करीब 4 चालक कांस्टेबल

By: भवानी सिंह

Published: 06 Oct 2021, 07:30 PM IST

बाड़मेर
राजस्थान पुलिस में हार्ड ड्यूटी के साथ फोर्स को इधर-उधर करने में अहम भूमिका निभाने वाले वाहन चालक कांस्टेबल को पदोन्नति के लिए लंबा इंतजार करना पड़ रहा है। दरअसल, पुलिस महकमें के मोटर वाहन विभाग में स्वीकृत पद कम होने पर उन्हें पदोन्नति नहीं मिल रही है। ऐसे में वाहन चालक के लिए भर्ती हुए अंधिकाश को कांस्टेबल या हैड कांस्टेबल से रिटायर्ड होना पड़ रहा है।


पुलिस विभाग में मोटर टेक्नीकल (एमटी) विभाग में प्रदेश भर में 4 हजार 332 कांस्टेबल चालक पदस्थापित है। यह पुलिस विभाग के वाहनों की देखरेख के साथ आपात स्थिति लंबे सफर भी वाहनों की ड्राइविंग करते है। लेकिन एमटी में पद कम होने पर इन्हें समय पर पदोन्नति नहीं मिल रही है। जबकि राज्य सरकार ने वर्ष - 2020 में जनघोषणा पत्र में पदोन्नतियां टाईमस्केल के आधार पर करने का प्रावधान रखा है, लेकिन पदों की कमी के चलते पुलिस विभाग में चालक पद भर्ती हुए कांस्टेबल पदोन्नति के इंतजार में रिटायर्ड तक पहुंच जाते है।


यों समझे गणित
पुलिस में सामान्य नफरी में 70 कांस्टेबल पर 1 निरीक्षक का पद है। जबकि एमटी में 760 कांस्टेबल पर एक निरीक्षक का पद है। अनुपात में बड़ा अंतर होने पर एमटी विभाग में भर्ती कांस्टेबलों को पदोन्नति नहीं मिल पा रही है।
---


फैक्ट फाईल
पुलिस एमटी स्वीकृत नफरी - 4332
कांस्टेबल चालक - 3568
हैड कांस्टेबल - 705
उप निरीक्षक - 52
निरीक्षक - 06
---


- प्रावधानों में बदलाव होना चाहिए
पुलिस विभाग में वाहन चालक भर्ती में शामिल होने वाले कांस्टेबल को पदोन्नति देरी मिलती है। इसका मुख्य कारण यह है कि एमटी शाखा में पदो की संख्या कम है। एमटी में 6 पुलिस निरीक्षक के पद है, ऐसे में यह रेंज स्तर पर निरीक्षक, उप निरीक्षक व हैड कांस्टेबल के नए पद सृजित किए जाए ताकि पदोन्नति समय पर मिल सके। साथ ही नियमों में बदलाव करने की जरुरत महसूस की जा रही है। - खींवसिंह भाटी, सेवानिवृत्त, एएसपी।

भवानी सिंह
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned