पुलिस ने घेराबंदी कर भाग रहे हार्डकोर हिस्ट्रीशीटर आरोपी को दबोचा

- रागेश्वरी थाना पुलिस की बड़ी कार्रवाई, पुलिस गाड़ी की आवाज सुनकर भागने लगा आरोपी, पीछा कर धर दबोचा, आरोपी पर 5 हजार रुपए घोषित था ईनाम

By: भवानी सिंह

Published: 08 Jan 2021, 08:17 PM IST

बाड़मेर
रागेश्वरी थाना पुलिस ने बुधवार को गुड़ामालानी थाने में दर्ज लूट, बलात्कार व मारपीट के मामले में हार्डकोर हिस्ट्रीशीटर व इनामी बदमाश को घेराबंदी के बाद पीछा कर दबोच लिया। आरोपी के बाड़मेर सहित कई जिलों व राज्यों के मामलों में लंबे समय से फरार चल रहा था। तीन मामलों में पुलिस ने 5 हजार रुपए का ईनाम घोषित कर रखा था।


पुलिस अधीक्षक आनंद शर्मा ने बताया कि जिले का हार्डकोर हिस्ट्रीशीटर व 5 हजार रुपए का ईनामी आरोपी व गुड़ामालानी थाने में दर्ज लूट, बलात्कार व मारपीट के मामले छह साल से फरार आरोपी अनिलकुमार पुत्र भाखराम निवासी जीवाणियों की ढाणी, गुड़ामालानी को गिरफ्तार किया। आरोपी अनिल आले दर्जे का बदमाश व मादक पदार्थ तस्कर, अंतर्राजीय वाहन चोर होने से इसे जिले के हार्डकोर अपराधियों की श्रैणी में रखा गया था।


चारों तरफ घेराबंदी कर दबोचा
पुलिस ने बताया कि रागेश्वरी थानाधिकारी महेन्द्र सीरवी को सूचना मिली कि क्षेत्र की लोलों का टांका के पास आरोपी अनिल अपने ताऊ बुधराम के यहां रुका हुआ है। पुलिस को पुख्ता जानकारी होने पर टीम ने सुबह 5 बजे दबिश देकर घर के चारों तरफ घेराबंदी करवाई। पुलिस वाहन की आवाज सुनकर आरोपी घर से भाग गया, लेकिन लेकिन पुलिस टीम ने सूझ-बूझ दिखाते हुए आरोपी अनिल को दबोच लिया।


5 हजार घोषित था इनाम
पुलिस ने बताया कि गुड़ामालानी के मारपीट, लूट व बलात्कार के प्रकरण में फरार होने पर इसकी गिरफ्तारी पर 5 हजार रुपए का इनाम घोषित था। इसके खिलाफ बाड़मेर जिले में 11, जालोर 02,जोधपुर 01, गुजरात राज्य में 13 व हरियाणा में 05 अपराधिक प्रकरण दर्ज है। कुल 32 प्रकरण लूट, वाहन चोरी, राजकार्य में बाधा, बलात्कार, हत्या का प्रयास, फरारी व मारपीट के मामले दर्ज है।


पुलिस कस्टडी से हुआ था फरार
पुलिस ने बताया कि वर्ष-2012 में वाहन चोरी की गतिविधियां में लिप्त हो गया था। आरोपी गुजरात व हरियाणा से वाहन चोरी कर यहां लाकर बेच देता था। वर्ष-2014 में सूरत पुलिस ने आरोपी अनिल को गिरफ्तार किया, लेकिन आरोपी पुलिस कस्टडी से फरार हो गया। उसके बाद फरार चल रहा था।


टीम की रही अहम भूमिका
एसपी आनंद शर्मा ने बताया कि रागेश्वरी थानाधिकारी महेन्द्रकुमार, हैड कांस्टेबल मुकनाराम, मनोहरलाल, कांस्टेबल पेमाराम, जूझाराम, हरिसिंह, मांगीलाल की अहम भूमिका रही।

भवानी सिंह Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned