प्रकृति को देखने का अच्छा तरीका है हाइकिंग

बाड़मेर. उजास ओपन के स्वतंत्र और ग्रामीण रोवर के साथ पीजी कॉलेज के एयर रोवर ने रविवार को ग्यारह किलोमीटर की हाइक के माध्यम से जल शक्ति का सन्देश दिया।

By: Omprakash Prakash Mali

Published: 19 Aug 2019, 06:34 PM IST

प्रकृति को देखने का अच्छा तरीका है हाइकिंग
-साइकिल हाइक से रोवर्स पहुंचे हिल्ली स्मृति उद्यान की पहाडिय़ों पर
बाड़मेर. उजास ओपन के स्वतंत्र और ग्रामीण रोवर के साथ पीजी कॉलेज के एयर रोवर ने रविवार को ग्यारह किलोमीटर की हाइक के माध्यम से जल शक्ति का सन्देश दिया।
राजस्थान राज्य भारत स्काउट गाइड के सीओ योगेन्द्र सिंह राठौड़ ने बताया कि उजास के ग्रुप लीडर डॉ. आदर्श किशोर के नेतृत्व में पीजी कॉलेज से जल शक्ति के सन्देश लिखे साइकिल हाइक को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया। रोवर्स ने हिल्ली स्मृति उद्यान तक की यात्रा तय की। हाइक प्रभारी सुरेश कुमार ने बताया हाइकिंग एक मौलिक आउटडोर गतिविधि है जिस पर कई अन्य गतिविधियां आधारित हैं। कई खूबसूरत जगहों पर ज़मीनी मार्ग से होते हुए सिर्फ हाइकिंग द्वारा ही पहुंचा जा सकता है और उत्साही लोग प्रकृति को देखने के लिए इसे सबसे अच्छा तरीका मानते हैं। स्मृति उद्यान में चार किलोमीटर की पैदल हाइक के दौरान रोवर्स ने कैक्टस पार्क, वीयू पॉइंट, वॉचिंग टॉवर, गूगल पार्क का अवलोकन किया।

Omprakash Prakash Mali
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned