महाविद्यालय में मनाया मानवाधिकार दिवस, एनएसएस स्वयंसेवकों ने किया यह महत्वपूर्ण कार्य

-पीजी व गल्र्स कॉलेज में कार्यक्रम

By: Ratan Singh Dave

Published: 11 Dec 2017, 05:40 PM IST

बाड़मेर पत्रिका. राजकीय महाविद्यालय की राष्ट्रीय सेवा योजना यानि एनएसएस की तीनों इकाइयों ने रविवार को श्रमदान करते हुए महाविद्यालय परिसर को साफ सुथरा बनाया। इस दौरान प्रोफेसर नवलकिशोर ने बताया कि कार्यक्र्रम अधिकारी डॉ. चंद्रप्रकाश धारू के नेतृत्व में शिविर आयोजित हुआ। इसमें चरक वाटिका, कक्षा-कक्ष, साइकिल स्टैंड व मुख्य द्वार तक श्रमदान किया गया। प्रो. एनएम सुराणा व उम्मेदसिंह ने कहा कि स्वच्छता को उठाया हर कदम देश सेवा से कम नहीं है। प्रकृति ने हमेशा सिखाया है कि मेरा ख्याल रखोगे तो सुखी रहोगे। हम प्रकृति से दूर होकर प्रसन्न नहीं रह सकते हैं। इसलिए हमें प्रकृति से जुड़ा हुआ ही रहना चाहिए। प्रकृति से जुड़कर ही हम विश्व के कल्याण में अपनी भागीदारी निभा सकते है। यदि हम केवल अपने अधिकारों का दोहन करते रहेंगे तो इनकी अस्मिता ही समाप्त हो जाएगी। इसलिए हमें प्रकृति के प्रति अपने दायित्वों को भी ध्यान में रखना चाहिए।

मानवाधिकार दिवस मनाया
वहीँ महाविद्यालय में मानवाधिकार दिवस भी मनाया गया। पृथ्वी पर मनुष्यता बनी रहे और मनुष्य को अपने अस्तित्व पर गर्व रहे, इसके लिए जरूरी है कि मनावाधिकारों का पालन हो। एमबीसी राजकीय महिला महाविद्यालय में आयोजित राष्ट्रीय सेवा योजना के एक दिवसीय शिविर के बौद्धिक सत्र में मानवाधिकार दिवस पर प्राचार्य डॉ ललिता मेहता ने उक्त विचार व्यक्त किए। राष्ट्रीय सेवा योजना कार्यक्रम अधिकारी डॉ. मृणाली चौहान ने बताया कि मानवाधिकार सार्वभौमिक एवं सकारात्मक अधिकार हैं। इन्हें समाज स्वीकार करता है तथा राज्य की स्वीकारोक्ति प्रदान है। डॉ सरिता व्यास ने बताया कि हमें प्राप्त सभी अधिकार जीवित रहें इसके लिए कर्तव्यों का पालन जरूरी है। यदि हम केवल अपने अधिकारों का दोहन करते रहेंगे तो इनकी अस्मिता ही समाप्त हो जाएगी। स्वयंसेविका भारती व तमन्ना ने समानता के अधिकार, महिलाओं एवं बच्चों के अधिकार व शिक्षा के अधिकारों पर अपने विचार व्यक्त किए। जस्सी व शबनम ने कविता पाठ किया। राष्ट्रीय सेवा योजना स्वयंसेविकाओं ने स्वच्छता सप्ताह के अन्तर्गत महाविद्यालय की सफाई भी की।

Ratan Singh Dave
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned