बाड़मेर. अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद बाड़मेर के कार्यकर्ताओं ने अतिरिक्त जिला कलक्टर को उच्च शिक्षा मंत्री राजस्थान के नाम ज्ञापन सौंपा, जिसमें मुख्यमंत्री स्कॉलरशिप योजना में वंचित छात्रों सहित अधूरी छात्रवृत्ति को देने की मांग की। ज्ञापन में बताया कि प्रदेश भर में महाविद्यालयों में नियमित विद्यार्थियों को मुख्यमंत्री छात्रवृत्ति योजना के तहत प्रतिवर्ष 5000 की राशि दी जाती थी। इस वर्ष ७० फीसदी विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति नहीं दी गई है। वहीं, छात्रवृत्ति में सरकार ने 2000 की कटौती कर दी है। जिला संयोजक भोमसिंह सुंदरा ने बताया कि इस छात्रवृत्ति से गरीब तबके के विद्यार्थी अपनी फीस भरते हैं, इसमें कटौती से अब उनके सामने समस्या पैदा हो रही है। विद्यार्थी परिषद ने मांग की कि जल्द ही विद्यार्थियों के खाते में पूरी छात्रवृत्ति जमा करवाई जाए। प्रतिनिधि मंडल में प्रवीणसिंह मीठड़ी, सरवन सारण, जगदीश बाना, प्रिंस शारदा, मनोहर चारण, विजय शर्मा आदि शामिल थे।
कॉलेज में प्रवेश तिथि बढ़ाने की मांग, सौंपा ज्ञापन
बाड़मेर. प्रदेश के महाविद्यालयों में स्नातक द्वितीय व तृतीय वर्ष में प्रवेश तिथि बढाने को लेकर सोमवार को राजकीय महाविद्यालय बाड़मेर के विद्यार्थियों ने प्राचार्य डॉ. एम एल गर्ग को आयुक्त कॉलेज शिक्षा के नाम ज्ञापन सौंपा। छात्रनेता शिवकरण सारण के नेतृत्व में सौंपे ज्ञापन में बताया कि अंतिम तिथि नहीं बढ़ाई गई तो सैकड़ों विद्यार्थी स्नातक द्वितीय व तृतीय वर्ष में नियमित विद्यार्थी के रूप में प्रवेश लेने से वंचित रह जाएंगें। बन्नाराम पंवार, एबीवीपी प्रान्त कार्यकारिणी सदस्य जगदीश बाना, बनाराम पंवार, देव शर्मा ,भूपेंद्र बेनीवाल ,राजेश बेनीवाल ,सुरेश जांगिड़, हितेश गौड़, कमल भील ,हरीश परिहार ,राधेश्याम रामावत आदि प्रतिनिधि मंडल में शामिल थे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned