अनार की उपज से किसानों की आर्थिक स्थिति में सुधार

अनार की जानकारी के लिए किसान भ्रमण दल रवाना

By: Dilip dave

Published: 13 Sep 2021, 11:31 PM IST

बाड़मेर. अनार में नवीन तकनीकों व प्रस्संकरण की जानकारी को लेकर किसानों का भ्रमण दल कृषि विज्ञान केन्द्र गुड़ामालानी से रवाना हुआ।

इस अवसर पर केवीके गुड़ामालानी के प्रभारी डॉ. प्रदीप पगारिया ने कहा कि जिले में 2010 से 30 हैक्टेयर क्षेत्र से शुरू हुआ अनार अब 8 हजार हैक्टेयर में 5-6 अरब प्रतिवर्ष की फसल के साथ किसानों की आर्थिक स्थिति में सुधार कर रहा है। फिर भी इसमें आने वाली तकनीकी समस्याओं एवं प्रस्संकरण के चलते किसानों को अपनी उपज का अच्छा मूल्य नहीं मिल पा रहा है।

वर्तमान में प्रति व्यक्ति आय 141502 रुपए है जिसे आने वाले समय में दुगुनी करने का लक्ष्य सरकार ने रखा है। उन्होंने बताया कि कृषक भ्रमण का दल कृषि विभाग आत्मा के सहयोग से शिव प्रोड्यूसर कंपनी लिमिटेड के सहयोग से मूल्य संवर्धन को समझने के लिए रवाना हुआ।

डॉ. हरि दयाल चौधरी ने अनार में आने वाली समस्याओं पर विचार डाला। शिव प्रोड्यूसर किसान कंपनी के निदेशक मंडल सदस्य मेहराराम चौधरी ने बताया कि भ्रमण दल दांतिवाड़ा, कृषि विश्वविद्यालय आनंद, कृषि विश्वविद्यालय,नवसारी, कृषि विश्वविद्यालय राहुरी व अनार अनुसंधान केन्द्र सोलापुर का भ्रमण कर विभिन्न जानकारियां खासकर प्रसंस्करण एवं मूल्य संवर्धन की जानकारी लेगा। इस अवसर पर डेयरी अध्यक्ष भीखाराम,दादूराम आदि उपस्थित थे।

Dilip dave Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned