बाड़मेर. शहर के कल्याणपुरा से शनिवार शाम भोर से पहले सैकड़ों पैदल यात्रियों का संघ हाथ में पताका, डीजे की धुन पर मां के जयकारो के साथ कुर्जा रवाना हुआ।

मालू भाईपा समाज संस्थान के अध्यक्ष प्रकाशचन्द मेहता व सहकोषाध्यक्ष कैलाश मालू झाक ने बताया कि 12 किलोमीटर का सफर तयकर संघ माता के दरबार में पहुंचा और मां के चरणो में धोक लगाते हुए मन्नतें मांगी। शुक्रवार को देर रात तक भजन गायक गौरव मालू एण्ड पार्टी ने मां सच्चियाय के भक्तो को भजनो के माध्यम से बांधे रखा।

जागरण में सच्चियाय माता के चढावे को लेकर पक्षाल कैलाशकुमार देवीचन्द मालू झाक वाले, वेश का लाभ फ्रेंड्स डस गु्रप हस्ते महावीर भंसाली, तिलक व हार का लाभ पारसमल राणामल मालू नवसारी, महाआरती का लाभ बंशीधर औंकारचन्द मालू मेहता परिवार की ओर से लिया गया। रात्रि जागरण में नाकोड़ा ट्रस्टी हंसराज कोटडिय़ा, नाकोडा पूर्व अध्यक्ष रिखबदास मालू, बाड़मेर जैन श्री संघ सूरत उपाध्यक्ष मांगीलाल मालू सूरत, किराडू ट्रस्ट अध्यक्ष सम्पतराज सिंघवी उपस्थित थे।

मां के श्रृगांर के साथ साथ भव्य आंगी रचना, विशेष लाइटिंग, फूलों से सज्जाई गई। उसके बाद मां के भक्तो ने 108 दीपक से मां की आरती उतारी। मालू भाईपा समाज संस्थान के सलाहकार बांकीदास मालू व ट्रस्टी सुरेश आरंग ने बताया कि पैदल यात्री कल्याणपुरा, प्रताप जी की प्रोल, करमु जी की गली, चौहटन रोड, कुशल वाटिका होता हुआ मां संिच्चयाय के रथ साथ कुर्जा मन्दिर पहुंचा।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned