बाड़मेर. बाड़मेर के कल्याणपुरा इलाके से करीब 200 पैदल यात्रियों का संघ, हाथ में पताका लिए डीजे की धुन पर मां के जयकारो के साथ कुज रवाना हुआ। मालू भाईपा समाज संस्थान के अध्यक्ष प्रकाशचन्द मेहता व ट्रस्टी नेमीचन्द मालू ने बताया कि 12 किलोमीटर का सफर कर संघ माता के दरबार में पहुंचा और मां के चरणो में धोक लगाते हुए मन्नतें मांगी। इससे पहले कुर्जा में भजन गायक महावीर देसाई एण्ड पार्टी सूरत ने मां सच्चियाय के भक्तों को भजनों के माध्यम से बांधे रखा। जागरण में सच्चियाय माता के चढावे को लेकर पक्षाल नेमीचन्द गंगाराम मालू मेहता, वेश का लाभ अमृतलाल प्रभुलाल मालू, तिलक व पुष्प का लाभ मिश्रीमल प्रभुलाल छाजेड़ व तिलोकचन्द घेवरचन्द मालू ,महाआरती का लाभ सम्पतराज सुरतानमल बोथरा परिवार उण्डखा वालों ने लिया।

रात्रि जागरण में मालू भाईपा समाज अध्यक्ष प्रकाशचन्द मेहता, किराडू ट्रस्ट अध्यक्ष सम्पतराज सिंघवी, रामलाल मालू, जितेन्द्र मालू जनता, जीतू तातेड़, रामलाल मालू, अमृतलाल मालू, खेतमल मालू, पवन कुमार मालू, मांगीलाल मालू, कमल सिंघवी आदि ने कार्यक्रम में शिरकत की।पैदल संघ पहुंचने के साथ ही मां के शृंगार के साथ भव्य आंगी रचना, विशेष लाइटिंग,फूलों से सज्जाई गई। खेतमल बोथरा ने 108 दीपक से मां की आरती उतारी।

मालू भाईपा समाज संस्थान के सहमंत्री रमेश मालू व कोषाध्यक्ष बाबूलाल मालू कगाऊ ने बताया कि लाभार्थी परिवारों का मालू भाईपा समाज की ओर से सम्मान किया गया।

मालू भाईपा समाज के सहकोषाध्यक्ष कैलाश मालू झाक व बांकीदास मालू ने बताया कि मेले में बाडमेर, चैहटन, गुडा, सनावडा, धोरीमन्ना, रामसर, जोधपुर, सांचैर, अहमदाबाद, सूरत, झिंझनियाली सहित आस-पास से कई क्षेत्रों से मां के भक्त पधारे। मालू ने बताया कि ट्रस्ट मण्डल की ओर से हर माह चान्दनी तेरस को विशेष मेले का आयोजन होता है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned