लगातार दूसरे वर्ष लूनी में आया पानी

लगातार दूसरे वर्ष लूनी में आया पानी
Looney River

तेज बहाव प्रयास विफल रहा। टेकरी कट जाने से गायें तैर कर बाहर आ गई। प्रशासन के आला अधिकारियों ने नदी तट पर बसे गांवों में जाकर जायजा लिया और ग्रामीणों से सर्तक रहने की अपील की। मरुगंगा लूणी में पानी की आवक से अब लोगों में नई उमंग भर गई है।

 एक साल बाद फिर से लूनी नदी में बुधवार को पानी की जोरदार आवक हुई। पाली जिले में अधिक बरसात होने से नेहड़ा बांध और बांडी नदी का पानी लूनी में आ रहा है। सूकड़ी नदी में भी पानी की आवक प्रारम्भ हो गई है। 

रानीदेशीपुरा गांव के समीप लूनी नदी में समाहित होती है। समदड़ी कस्बे में बुधवार सुबह 10:15 बजे लूनी में पानी पहुंचा। इस दौरान किनारे पर भारी संख्या में ग्रामीण मौजूद थे। मौके पर सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई और नदी से होकर जाने वाले रास्ते को बन्द करवाया। 

भलरों का बाड़ा गांव के पास लूनी नदी में एक टेकरी पर बुधवार को तीन गाय फंस गई। प्रशासन के आला अधिकारी व राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयंसेवक भी मौके पर पहुंच गायों को बचने का प्रयास किया। 

तेज बहाव प्रयास विफल रहा। टेकरी कट जाने से गायें तैर कर बाहर आ गई। प्रशासन के आला अधिकारियों ने नदी तट पर बसे गांवों में जाकर जायजा लिया और ग्रामीणों से सर्तक रहने की अपील की। मरुगंगा लूणी में पानी की आवक से अब लोगों में नई उमंग भर गई है।

 इसको देखते हुए उपखंड प्रशासन ने शहर के बाईपास पूलिया के पास रेत के कट्टे रखवाए हैं। वहीं लूनी नदी बहाव क्षेत्र के आस-पास के बेरे व रहवासियों को सावचेत रहने के निर्देंश दिए हैं। गुरुवार शाम तक लूनी नदी के बालोतरा पहुंचने की संभावना है। पाली में नदी-नाले उफान पर होने से लूणी नदी में डेढ़ से दो फीट पानी का बहाव है। इधर, मेली बांध में बुधवार दोहपर 3 बजे तक 14.80 फीट पानी आ चुका है।

बारिश के बाद कहां-क्या हालात

- सिवाना में देवड़ा बस स्टैण्ड पर पुराना निर्मित सराय मंगलवार को भरभराकर गिर गया। कस्बे में एक-दो जगह मकान एवं गोदाम की दीवारें भरभराकर गिर गई।

- गूंगरोट का नानेरी वांगुडा बांध, पीपलून बांध ओवरफ्लो चल रहा है।

- देवड़ा गांव में बने रामसरोवर तालाब में रिसाव के चलते फूटने के डर से ग्रामीणों ने सुबह 9 बजे प्रशासन को सूचित किया। इसके बावजूद मौके पर कोई नहीं पहुंचने पर दोपहर 3 बजे ग्रामीणों ने जेसीबी से रिसाव को रोकने के प्रयास किए।

- समदड़ी क्षेत्र में भलरों का बाड़ा गांव के पास सड़क पर पानी भरा होने से आवागमन बाधित हो रहा है। सिवाना जाने का रास्ता बन्द है और सांवरड़ा-राखी का सम्पर्क कट गया। - खारा क्षेत्र में पानी का तेज बहाव चल रहा है। रामपुरा का दीपानाडा तालाब की पाल टूटने से पानी गोदों का बाड़ा जाने वाली सड़क पर चलने से रास्ता बन्द पड़ा है।

- समदड़ी इलाके में पानी खेतों में घुस जाने से फसलें बर्बाद हो गई है।

- लूणी नदी में बहाव से अजीत से मजल, मियों का बाड़ा से खरंटिया व भलरों का बाड़ा, भानावास व रानीदेशीपुरा का कोटड़ी गांव से सम्पर्क कट गया है।


राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned