स्टेडियम को बना दिया सरकारी कबाड़ का गोदाम, देखें वीडियो

- नगर परिषद नहीं कर रही निस्तारण, पिछले 16 साल से जमा हो रहा कबाड़

By: भवानी सिंह

Published: 09 Dec 2017, 07:17 PM IST

बाड़मेर पत्रिका. पचास लाख की फायर ब्रिगेड। आठ लाख की जीप। पंद्रह लाख के टैंकर। सात लाख के ट्रैक्टर और लाखों के अन्य वाहन और संसाधन। यह किसी की निजी संपत्ति होते तो इनकी छोटी-मोटी टूट-फूट को सही करने की फिक्र होती लेकिन नगरपरिषद ने इन्हें कबाड़ में डाल दिया। पिछले 16 साल से इनकी फिक्र भी नहीं कि करना क्या है। निस्तारण नहीं होने से स्टेडियम का बड़ा स्थान घेरे हुए हैं। वहीं वाहनों के आसपास झाडिय़ां फैल हुई है, इन्हें भी नहीं हटाया जा रहा है। वहीं कबाड़ की नीलामी की प्रक्रिया को भी नहीं अपनाया गया है। कोढ़ में खाज यह है कि इसकी सुरक्षा के लिए दो कर्मचारी लगाए गए हंै जिनकी तनख्वाह नगरपरिषद दे रही है।

नगरपरिषद पिछले सोलह साल से कंडम वाहनों, संसाधनों व जप्त किए गए सामान को शहर के आदर्श स्टेडियम में डाल रही है। इसके चलते यहां बहुत बड़े भाग में कबाड़ जमा हो गया है। स्टेडियम के एक भाग को देखकर लगता है कि यह किसी कबाड़ी का गोदाम है।
नहीं ली निस्तारण में रूचि

स्टेडियम में कई वर्षों से पड़े कबाड़ की लिस्ट बनाने के बाद डीएलबी को भेजनी पड़ती है। इसके बाद स्वीकृति आने के बाद कमेटी की निगरानी में इसका निस्तारण करना पड़ता है। लेकिन कई आयुक्त आए और चले गए लेकिन किसी ने इसके निस्तारण में रूचि नहीं खिाई।
कार्यक्रमों में बाधा

स्टेडियम में कई सरकारी कार्यक्रम व स्पर्धाएं आदि होती है। इन कार्यक्रमों के लिए जगह चाहिए। लेकिन जगह-जगह कबाड़ होने से इन्हें व्यवस्थित करना पड़ता है। ऐसे में कर्मचारियों की परेशानी बढ़ जाती है।
निस्तारण के प्रयास करेंगे

स्टेडियम में सामान को सूचीबद्ध करवाया जा रहा है। इसकी रिपोर्ट बनाकर डीएलबी को भेजी जाएगी। इसके निस्तारण का प्रयास किया जाएगा। अस्त-व्यस्त पड़े सामान को जल्दी से व्यवस्थित करवाया जाएगा।
प्रकाश डूडी, आयुक्त नगर परिषद बाड़मेर

भवानी सिंह
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned