शहीदों की शहादत को नहीं भुलाया जा सकता

https://www.patrika.com/barmer-news/

By: Omprakash Prakash Mali

Published: 01 Jul 2019, 05:34 PM IST

शहीदों की शहादत को नहीं भुलाया जा सकता
शहीद ढोलिया को श्रद्धांजलि दी
बालोतरा.शहर में रविवार को जीनगर समाज विकास समिति की ओर से शहीद बीरबलसिंह ढालिया का शहादत दिवस मनाया गया। इस दौरान समाज का प्रतिभा सम्मान समारोह व नव निर्वाचित कार्यकारिणी का शपथ ग्रहण समारोह भी मनाया गया। जिला एवं सेशन न्यायाधीश अनिल आर्य ने कहा कि समाज के अंदर राष्ट्र भक्ति के भाव एवं समाज मे शिक्षा का प्रचार करने के लिए ऐसे आयोजन समय-समय पर होने जरूरी है। विद्यार्थी जीवन में कड़ी मेहनत कर माता-पिता व गांव का नाम रोशन करें। प्रधानाचार्य अनिल जीनगर ने कहा कि विद्यार्थी लक्ष्य निश्चित कर अध्ययन करें। जिला परिवहन अधिकारी भगवानराम गहलोत ने कहा कि शहीदों को समय-समय पर श्रद्धांजलि अर्पित कर समाज के युवाओं मे राष्ट्रभक्ति की भावना को जागृत किया जा सकता है। कार्यक्रम अध्यक्ष गोविन्दराम गोयल ने समाज मे बालिका शिक्षा के प्रति जागरूकता बढ़ाने की बात कही। कार्यक्रम में कलाकार दलीचंद जीनगर ने देश भक्ति गीत की प्रस्तुति दी। कार्यक्रम में समाज के प्रतिभावान विद्यार्थियों को सम्मानित किया गया। इस अवसर पर जीनगर ज्योति राष्ट्रीय अध्यक्ष नारायणदास आसेरी, डॉ. हंसराज चौहान, डॉ. मुकेश निर्वाण, उपाध्यक्ष मोहनलाल तंवर, कोषाध्यक्ष बाबूलाल व्यास, सचिव मदनलाल जीनगर, सहसचिव दौलत सोनगरा मौजूद थे। अध्यक्ष अनिल राठौड़ ने धन्यवाद ज्ञापित किया।
सिवाना. पादरू स्थित बगदाराम महाराज की बगेची में रविवार को जीनगर समाज की ओर से आयोजित कार्यक्रम में शहीद बीरबलसिंह ढोलिया की 73वीं पुण्यतिथि पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी गई। लूणचंद जीनगर ने शहीद बीरबलसिह ढोलिया के जीवन चरित्र पर प्रकाश डालते हुए कहा कि शहीद ढोलिया मूलत: गंगानगर जिले के रायसिंह नगर कस्बे के निवासी थे। उनके रक्त के कण-कण में राष्ट्रीयता की भावना थी। उन्होंने 30 जून 1946 को तिरंगे की आन,बान व शान में तिरंगा जुलूस निकाला था, जिसमें वे शहीद हो गए थे। उनकी देशप्रेम की भावना व शहादत को कभी भुलाया नहीं जा सकता। जबराराम जीनगर ने कहा कि देश की आन,बान व शान की रक्षा के लिए हमेशा देश के प्रति समर्पित भावना से कार्य करें। शहीदों की शहादत को नमन करते हुए उनके आदर्शों को अपने जीवन में आत्मसात करें। इस अवसर पर देवाराम, जबराराम जीनगर, मोतीराम, मुकेश कुमार सहित बड़ी संख्या में समाज के लोग मौजुद थे।
शहीदों की शहादत को नहीं भुलाया जा सकता
समदड़ी . कस्बे के जीनगर समाज भवन में रविवार को शहीद बीरबलसिंह ढालिया का 73वां शहादत दिवस श्रद्धापूर्वक मनाया गया। आईदानराम जीनगर ने कहा कि ढालिया ने शहादत देकर समाज का रोशन किया। इस अवसर पर दौलतराम, ओमप्रकाश डाबी, जितेन्द्र कुमार गुर्जर, गोविंदराम डाबी आदि मौजूद थे।
पाटोदी. कस्बे में रविवार को शहीद बीरबलसिंह ढालिया का शहादत दिवस मनाया गया। कार्यक्रम में सरपंच संतोषी जीनगर ने कहा कि युवा स्वयं में राष्ट्रभक्ति की भावना को जागृत करें। राष्ट्र के प्रति अच्छा कार्य कर नाम रोशन करें। इस अवसर पर मुकन सोगनरा, कुंदनमल, हरीश जीनगर, चतुराराम, राणाराम, राकेश, मुकेश पंवार आदि मौजूद थे।

Omprakash Prakash Mali
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned