scriptMining mafia eating this river, if stringed, they were seen running | patrika string इस नदी को खा रहा खनन माफिया, स्ट्रींग किया तो भागते नजर आए | Patrika News

patrika string इस नदी को खा रहा खनन माफिया, स्ट्रींग किया तो भागते नजर आए

सिणधरी उपखंड क्षेत्र से गुजर रही लूनी नदी में पिछले लंबे समय से अवैध बजरी खनन जोरों पर चल रहा है। राज्य सरकार ने अवैध बजरी खनन रोकने को लेकर चैक पोस्ट स्थापित करके आरएसी व होमगार्ड तैनात किए लेकिन बजरी माफियाओं के आगे चेक पोस्ट बौने साबित हो रहे हैं।

बाड़मेर

Published: April 18, 2022 12:09:35 pm


स्ट्रींग ऑपरेशन
बाड़मेर पत्रिका.
सिणधरी उपखंड क्षेत्र से गुजर रही लूनी नदी में पिछले लंबे समय से अवैध बजरी खनन जोरों पर चल रहा है। राज्य सरकार ने अवैध बजरी खनन रोकने को लेकर चैक पोस्ट स्थापित करके आरएसी व होमगार्ड तैनात किए लेकिन बजरी माफियाओं के आगे चेक पोस्ट बौने साबित हो रहे हैं। लूनी नदी में अवैध खनन रोकने को लेकर स्थापित चेक पोस्ट के बावजूद लगातार हो रहे अवैध खनन को लेकर पत्रिका टीम ने शनिवार देर रात 12 बजे से स्टिंग ऑपरेशन चलाते हुए लूनी नदी में जगह जगह अवैध खनन के नाकों की छानबीन की जिस पर बजरी माफिया बंद लाइटों में अंधेरे में अवैध खनन करते पाए गए। पत्रिका टीम लूनी नदी में पहुंचने पर खनन माफिया जगह-जगह से अंधेरे का फायदा उठाकर भागने लगे लेकिन कुछ अवैध खनन माफियाओं द्वारा अपने वाहनों से नदी में जाने का रास्ता रोककर नदी में भरे जाने वाले डंफर को सामने के रास्तों से पार करवा दिया। पत्रिका टीम नदी में पहुंचने पर कहीं बजरी माफिया पत्रिका के टीम का पीछा करते रहे पत्रिका टीम ने जगह जगह से नदी में प्रवेश होने वाले रास्तों से नदी में पहुंचकर छानबीन की जिसे अंधेरे के बीच बजरी माफिया अवैध खनन करते पाए गए। लेकिन अवैध खनन रोकने को लेकर स्थापित चेकपोस्ट के कमज़्चारी अवैध खनन पर अंकुश लगाने के लिए नाकाम होते नजर आए। लूनी नदी के अंदर पायला कला,सड़ा, भटाला,खुडाला में बजरी का अवैध खनन चल रहा है।
patrika string इस नदी को खा रहा खनन माफिया, स्ट्रींग किया तो भागते नजर आए
patrika string इस नदी को खा रहा खनन माफिया, स्ट्रींग किया तो भागते नजर आए
रात्रि के 2 बजे के बाद शुरू होता है अवैध खनन
लूनी नदी में लगाता हो रहे अवैध खनन पर पत्रिका टीम ने स्ट्रीट करते हुए शनिवार देर रात पूरी रात सवेज़् करने पर सामने आया कि अवैध बजरी खनन माफिया रात्रि के 2 बजे के बाद नदी में जाने वाले रास्ते पर पहरा देकर बजरी भरने के लिए डंपर नदी में उतारते हैं। चेक पोस्ट के नाम पर गेस्ट हाउस में रहने वाले अवैध बजरी खनन पर रोक लगाने वाले कामिज़्क भी दो बजे के बाद नींद में सो जाते हैं। जिसके चलते बजरी खनन माफिया 2 बजे से लेकर सुबह 6 बजे तक धड़ल्ले से बजरी का अवैध परिवहन करते हैं।
होटलों पर रहता है डंपर वाहनों का जमावड़ा

मेगा हाईवे पर स्थापित विभिन्न होटल ढाबों पर सूयज़् अस्त होने के बाद धीरे-धीरे अवैध बजरी का परिवहन करने वाले डंपर डेरा डालना शुरू कर देते हैं। देर रात तक चेक पोस्ट के कमज़्चारी सोने के बाद रात्रि के समय डंपर चालक बजरी माफियाओं के इशारों पर नदी में बजरी भरने के लिए उतर जाते हैं। लेकिन अलग-अलग होटलों पर सैकड़ों की संख्या में डंपर खड़े होने के बावजूद भी पुलिस वह चेक पोस्ट कमज़्चारी अवैध बजरी खनन रोकथाम को लेकर गंभीर नजर नहीं आ रहे हैं।
सामने से गुजर रहा डंपर चेक पोस्ट के कमज़्चारियों को नही परवाह

शनिवार देर रात 2 बजे लूनी नदी से अवैध बजरी का डंपर भर कर मुख्य कस्बे से निकलता हुआ बाईपास पर कैंपर में बैठे चेक पोस्ट के कमज़्चारियों के सामने से निकला लेकिन चेक पोस्ट कमज़्चारियों द्वारा अवैध बजरी बजरी से भरे डंपर को रुकवाने के लिए रति भर तक नहीं हिले जिसके चलते बजरी माफिया बेखौफ होते हुए चेकपोस्ट कमज़्चारियों के गठजोड़ के साथ अवैध खनन कर रहे हैं।
नवंबर 2017 से बिना अनुमति के चलते बंद हुआ बजरी खनन

लूनी नदी में 2017 में बिना पयाज़्वरण की अनुमति के चलते बजरी का खनन हो रहा था जिस पर सुप्रीम कोटज़् ने आदेश जारी करते हुए 16 नवंबर 2017 को प्रदेश में बजरी का खनन बंद कर दिया। लेकिन इसके बाद राज्य सरकार ने खातेदारी भूमि पर बजरी के लिए लीज आवंटित करके बजरी खनन करने की अनुमति दी थी उसके बाद लीज की आड़ में बजरी माफिया नदी क्षेत्र में धड़ल्ले से अवैध खनन करने लगे। लगातार अवैध खनन की शिकायतों पर केंद्र की गठित सीईसी टीम ने नदी क्षेत्रों का दौरा करने पर अवैध खनन सामने आया जिस पर टीम ने रिपोटज़् तैयार कर सुप्रीम कोटज़् में पेश करने पर सुप्रीम कोटज़् ने नदी क्षेत्र में आवंटित बजरी लीजो को निरस्त करते हुए वैध खनन शुरू करने के आदेश जारी कर दिए सुप्रीम कोटज़् के आदेश के बावजूद भी बाड़मेर जिले में लूनी नदी के अंदर इसी जारी होने के बाद भी अभी तक वैध खनन शुरू नहीं हो पाया है। जिसके चलते नदी में अवैध बजरी खनन रोकने को लेकर चेक पोस्ट स्थापित होने के बावजूद भी अवैध खननजोरों पर चल रहा है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

बुध जल्द वृषभ राशि में होंगे मार्गी, इन 4 राशियों के लिए बेहद शुभ समय, बनेगा हर कामज्योतिष: रूठे हुए भाग्य का फिर से पाना है साथ तो करें ये 3 आसन से कामजून का महीना किन 4 राशियों की चमकाएगा किस्मत और धन-धान्य के खोलेगा मार्ग, जानेंमान्यता- इस एक मंत्र के हर अक्षर में छुपा है ऐश्वर्य, समृद्धि और निरोगी काया प्राप्ति का राजराजस्थान में देर रात उत्पात मचा सकता है अंधड़, ओलावृष्टि की भी संभावनाVeer Mahan जिसनें WWE में मचा दिया है कोहराम, क्या बनेंगे भारत के तीसरे WWE चैंपियनफटाफट बनवा लीजिए घर, कम हो गए सरिया के दाम, जानिए बिल्डिंग मटेरियल के नए रेटशादी के 3 दिन बाद तक दूल्हा-दुल्हन नहीं जा सकते टॉयलेट! वजह जानकर हैरान हो जाएंगे आप

बड़ी खबरें

Drone Festival: दिल्ली के प्रगति मैदान में भारत के सबसे बड़े ड्रोन फेस्टीवल का उद्घाटन करेंगे पीएम मोदीपाकिस्तान में 30 रुपए महंगा हुआ पेट्रोल-डीजल, Pak सरकार को घेरते हुए इमरान खान ने की मोदी की तारीफअजमेर शरीफ दरगाह में मंदिर होने के दावे के बाद बढ़ाई गई सुरक्षा, पुलिस बल तैनातपहली बार हिंदी लेखिका को मिला अंतरराष्ट्रीय बुकर पुरस्कार, एक मॉं की पाकिस्तान यात्रा पर आधारित है उपन्यासजम्मू कश्मीर: टीवी कलाकार अमरीन भट की हत्या का 24 घंटे में लिया बदला, तीन दिन में सुरक्षा बलों ने मारे 10 आतंकीमहरौली में गैस पाइपलाइन में लीकेज के बाद जोरदार धमाका लगी आग, एक घायलमानसून ने अब तक नहीं दी दस्तक, हो सकती है देरखिलाड़ियों को भगाकर स्टेडियम में कुत्ता घुमाने वाले IAS अधिकारी का ट्रांसफर, पति लद्दाख तो पत्नी को भेजा अरुणाचल
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.