नींव तो रख दी, अब दिवार व छत के लिए किस्त का इंतजार!

- पीएम आवास के तहत इस साल पहली किस्त को कर रहे 16 हजार परिवार इंतजार,जबकि दूसरी किस्त के लिए कर रहे है 30 हजार परिवार इंतजार

By: भवानी सिंह

Published: 11 Jan 2021, 07:09 PM IST

भवानीसिंह राठौड़@बाड़मेर. ग्रामीण क्षेत्र में प्रधानमंत्री आवस योजना के तहत गरीब व जरुरतमंद को सरकार की स्वीकृति जारी होने के बाद भी आवास निर्माण का सपना महज दिखावा बनकर रह गया है। यहां गत साल के स्वीकृत आवास में से 19 हजार परिवारों को अंतिम किश्त नहीं मिल पाई है। जबकि इस साल प्रथम किस्त को 16 हजार जरुरतमंद परिवार इंतजार कर रहे है।

ग्रामीण क्षेत्रों में जरुरतमंद परिवारों ने प्रथम किस्त मिलने पर नींव तो रख दी, लेकिन दीवार व छत के लिए शेष किस्तें मुहैया नहीं हुई है। ऐसे में आवास बनाने का सपना उन परिवारों के लिए अधरझूल हो गया है। वर्ष 2020-21 में 51 हजार जरुरतमंद परिवारों को आवास दिलाने की स्वीकृति निकली, लेकिन इसमें प्रथम किस्त महज 35 हजार को मिली है, 16 हजार तो प्रथम व द्वितीय किश्त के लिए 22 हजार परिवार इंतजार कर रहे है।
---
पीएम आवास यों समझें इस का गणित
वर्ष 2020-21 में पीएम आवास के तहत 51 हजार 848 लोगों के आवास स्वीकृत हुए। जबकि प्रथम किश्त महज 35 हजार 167 को मिली। द्वितीय किश्त 22 हजार 239 को मिली। जबकि तृतीय किश्त महज 3 हजार 562 लोगों को मिल पाई है। आंकड़ों के अनुसार प्रथम में 16 हजार 681 तो द्वितीय में 29 हजार परिवार किश्त का इंतजार कर रहे है।
---
वर्ष 2019-20
स्वीकृत आवास -41940
प्रथम किश्त - 41329
द्वितीय किश्त - 37149
तृतीय किश्त - 21586
आवास पूर्ण - 22538
लंबित - 19402
---
वर्ष 2020-21
स्वीकृत आवास - 51848
प्रथम किश्त - 35167
द्वितीय किश्त - 22239
तृतीय किश्त - 3562
आवास पूर्ण किश्त - 3679
लंबित - 48169
---
- ज्यादा लंबित नहीं है।
कोविड-19 के दौरान पीएम आवास का बजट आने में देरी हुई थी। अभी बजट मिला है। किश्त जमा हो रही है। यह मामला केन्द्र सरकार के अधीन है। बजट मिलने पर ही किश्त लाभार्थी के खातें में जमा करते है। - मोहनदान रतनु, सीईओ, जिला परिषद, बाड़मेर

भवानी सिंह Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned